News

“बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का नारा देने वाली सरकार तुम्हारे राज में महिलाएं खेतों में जन्म दे रही बच्चों को

3

पिथौरागढ़ । बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली सरकार के राज में महिलाएं खेतों में बच्चों को जन्म् दे रही हैं। यह कोई तंज नहीं अपितु हकीकत हैं। कहानी उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले की मुनस्यारी तहसील की हैं।

जंहा के मालूपाती गाँव में सड़क ना होने की वजह से महिला ने खेत में ही बच्चें को जन्म दे दिया। वहां के लोग बताते है कि इस तरह से पहले भी कई महिलाएं अस्पताल जाने से पहले ही बच्चों को सड़को और खेतों में पैदा करती आई हैं। कड़कड़ाती ठंड के बीच खेत मे ही शिशु को जन्म देने के इस मामले ने राज्य में विकास का दावा करने वाली त्रिवेंद्र सरकार की कलई खोल कर रख दी हैं।

जानकारी के अनुसार गिरीश गोस्वामी की पत्नी संगीता देवी को शुक्रवार शाम प्रसव पीड़ा शुरू हुई। पैदल चलने की स्थिति ना होने पर गाँव के लोग संगीता को डोली में बिठाकर कर 4 किलोमीटर दूर चौना गाँव के लिए रवाना हुए। ताकि वहां से सड़क के जरिये प्रसव पीड़िता को मुनस्यारी अस्पताल लाया जा सके।

लेकिन मार्ग में ही प्रसव पीड़िता को तेज दर्द शुरू होने लगा। जिसके बाद उसे फन्या नामक स्थान पर डोली से उतारकर खेतों में रखा गया। संगीत ने माईनस 3 डिग्री तापमान में खेत के बीच ही नवजात को जन्म दिया। प्रसव के बाद परिजन जच्चा और बच्चा को डोली में बिठाकर वापस अपने गांव की ओर चले गए। दोनों ही फिलहाल खतरे से बाहर है।

गांव की प्रधान हेमा देवी बताती है कि गांव में इस तरह की घटनाएं पहले भी हो चुकी हैं। सरकार से कई बार इस ओर ध्यान देने की सिफारिश कर चुके है लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया हैं।

Mahaveer negi
written by: Mahaveer negi
English EN Hindi HI