News

दवा आयुष मंत्रालय द्वारा प्रमाणिक नही,मंगवाया ब्यौरा – विज्ञापन पर रोक

Patanjali internal image

बाबा रामदेव के पतंजलि संस्थान द्वारा बनाई गई दवाई के 100 प्रतिशत कारगर होने के दावे को आयुष मंत्रालय ने कहा है कि अभी इन दावों की प्रमाणिकता की कोई गारण्टी नही है। मंत्रालय ने इस दवा का विवरण मंगवाया है जिससे पतंजलि द्वारा किये जा रहे दावों की जांच की जा सके । इसके कंपोजिसन ओर रिसर्च के स्थान की भी मंत्रालय को कोई जानकारी नही है।

 

बाबा रामदेव ने आज ही अपनी दवा कोरोनिल की लॉन्चिंग की है जिस दौरान उन्होंने दावा किया है कि ये दवा कोरोना के इलाज में 100 प्रतिशत कारगर है । इसके सेवन से 7 दिन के भीतर मरीज के पुर्णतः स्वस्थ हो जाने की बात भी उन्होंने कही।  रामदेव जी ने कहा कि इस दवा को बनाने में , गिलोय, तुलसी, अश्वगंधा, अणु के तेल जैसी आयुर्वेदिक तत्व मिलाए गए है उन्होंने बोला कि 7 दिन के भीतर ये दवा बाजार में मिलने लगेगी। इसके लिए सोमवार को एक app भी लॉन्च होगा जिसके द्वारा इसकी होम डिलीवरी की जा सकेगी।

आयुष मंत्रालय ने कहा कि मीडिया में चल रही खबरों के बाद संज्ञान लिया गया है और जब तक दावे की प्रमाणिकता की जांच ना हो जाये इसके विज्ञापन पर भी फिलहाल बेन लगा दिया गया है

Ashish sharma
written by: Ashish sharma
English EN Hindi HI