News

BusinessNews

How To Find QuickBooks Customer Service Phone Number USA

views
5711

QuickBooks additionally passes by or is related with the names Quick Books, Quickbooks.com, Intuit Inc, QuickBooks. They are viewed as a feature of the accompanying areas and ventures: Information Technology, Software and Services, Internet Software and Services. QuickBooks is related with terms like bookkeeping programming, private, data innovation and services 1844-857-4846, innovation, saas, b2b by their customers and industry examiners. They utilize 61 individuals as indicated by customers up to date.

I have a suscription of quickbooks Enterprise 2020. I needn’t bother with programmed finance so I actuated quickbooks manual finance. I made all the arrangements and a few tests. Following scarcely any hours it seem a line in the workers label that read Payroll accomplished for you and is blocking me for utilize the manual capacity.

I’m extremely certain is a programmed include attempting to drive me to utilize the paid suscription of Payroll on the web, however I don’t required on the grounds that I’m utilizing it in the Dominican Republic.

Would you be able to give me some prompt here? Much obliged.

Permit me to step in and help make sense of what’s hindering in the framework from utilizing your manual finance. Did you have a programmed finance previously? Assuming this is the case, the service key from your past finance could be blocking you from preparing the manual finance.

I’d suggest reaching our Desktop Payroll Team so they can evacuate the service key and assist you with continueing working with your manual finance.

Keep me refreshed how it goes. I’ll be keeping watch for your answer on the off chance that you have different inquiries regarding manual finance. Have a decent one.

NewsTips

घबराये नही कोरोना से बचाव के लिए करें ये आसान उपाय : डॉ संजीव कुमार

Microscopic view of Coronavirus, a pathogen that attacks the respiratory tract. Analysis and test, experimentation. SarsMicroscopic view of Coronavirus, a pathogen that attacks the respiratory tract. Analysis and test, experimentation. Sars. 3d render
views
6090

कोरोना संक्रमण के आंकड़े लगातार बढ़ रहे है हालाकि कोरोना रिकवरी दर में इजाफा हुआ है परन्तु कोरोना का भय कंही ना कही इंसानी दिमाग और हावी हो चुका है, हर व्यक्ति मेडिकल सेवाएं नही ले पा रहा । चाहे महंगी चिकित्सीय प्रकिया महंगा टेस्ट या सामाजिक उपेक्षा भी शायद कंही ना कही इस भय का कारण है।

हैदराबाद के डॉ संजीव कुमार ने कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां दी है और ये जानकारी काफी महत्वपूर्ण है । डॉ संजीव कुमार ने बताया कि अगर शरीर मे दर्द है परंतु बुखार नही है तो कोरोना संक्रमित होने की संभावना ना के बराबर है। अगर बुखार नही है सिर्फ डर है और सोच रहे है कि टेस्ट कराए तो कोई फायदा नही है क्योंकि कोरोना का अभी कोई परमानेंट इलाज नही है जो भी इलाज अभी दिया जा रहा है वो सिर्फ आपकी प्रॉब्लम के हिसाब से दिया जा रहा है। अगर किसी को ये डर है कि वो किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में ना आ गए हो तो सबसे पहले कम से कम 14 दिन के लिए अपने को घर मे ही आइसोलेट करना जरूरी है और हा अगर आपको बुखार नही है तो अब बिल्कुल मत घबराये आप स्वस्थ है।

जो लोग घर मे है कोरोना से बचाव के लिए वो हैंड सेनीटाईजर का इस्तेमाल करते रहे आप ग्लब्स का ओर मास्क का इस्तेमाल करते रहे और 1 मीटर की दूरी का भी ख्याल रखे किसी से मिलते वक्त | अभी तक कोरोना का इलाज सिर्फ आपकी अच्छी इम्युनिटी को ही माना जा रहा है आप अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आप ये साधारण से उपाय कर सकते है-

  1. विटामिन सी की टेबलेट दिन में 2 बार लें
  2. मल्टी विटामिन जैसे बिकासुल इत्यादि दिन में 1 गोली लें
  3. कैल्सियम या विटामिन डी3 भी कोरोना से लड़ने में कारगर साबित हुए है इसके कैप्सूल बाजार में उपलब्ध है 3 दिन लेकर बंद कर दें
  4. बुजुर्ग लोग जिन्हें भूख कम लगती है वो ors का घोल या नामक चीनी का निम्बू पानी लेते रहें

वो लोग जिनको बुखार है तो भी घबराने की आवश्यकता नही है उसके लिए आप पेरासिटामोल की गोली दिन में तीन बार लें इससे सर् दर्द , शरीर दर्द सबमे आराम मिलेगा, अगर इससे बुखार ना उतरे तो गीले कपड़े से शरीर को भीगा लीजिये ओर पंखा चला लीजिये निश्चित आपको आराम मिलेगा।

सेनिटाइजर का करें संभल के उपयोग, कही जहर तो नही, जानिए जांच का आसान तरीका

कुछ लोगो की सांस भी फूल सकती है या तो डर की वजह से या बीमारी की वजह से इसके लिए आप एक पल्स ऑक्सिमिटर बाजार से या ऑनलाइन ख़रीद सकते है जो 800 से 1200 रुपये के बीच मिल जाएगा| इसे आप उंगली पे लगाकर अपनी ऑक्सीजन की मात्रा चेक कर सकते है अगर आपकी ऑक्ससीजन 90 से ऊपर है तो आप स्वस्थ है ये सिर्फ डर की वजह से है आप उपरोक्त उपाय ही करते रहे। अगर ये 90 से कम है या सांस फूल रही है तो इसके लिए आप Mucinex टेबलेट दिन में 2 बार ले सकते है अगर खासी है तो अदरक का रस शहद में मिलाके ले सकते है।

डॉ संजीव ( Sunsine Hospital Hedrabad ) ने ये जानकारी एक वीडियो के माध्यम से दी है जो काफी वायरल भी हो रहा है। जिसमे वे बार बार कोरोना से बचाव के लिए  सोशल डिस्टेंसिंग, ओर हैंड वाश पर जोर दे रहे है | अगर इतना सब कुछ करने के बाद भी अगर आप सही नही हो रहे या बुखार नही उतर रहा तो अब आपको मेडिकल सहायता की आवश्यकता पड़ेगी। इसकी अधिक जानकारी आप नीचे दिए गए लिंक से ले सकते है ।

News Source-

https://youtu.be/QzAKtXg0108

 

Business

How are PE Firms Gearing Up for a Potential Recession?

views
6233

Private equity is one such sector that has endured the adversities of the COVID-led economic downturn quite well, compared to any other industry. Since the great recession of 2008, private equity in the US had been on an alert for facing a situation just like this. Remember, that the year previous to 2020 had been highly successful for private equity wherein, it raked in $800 billion in varied deals. It’s literally sitting on a huge pile of dry powder.

As per a recent Statista survey, the financial services sector, and especially, private equity, had been found among the least affected in terms of bearing business loss and facing the heat of the corona-led crisis. While the worst-affected business domains were manufacturing and travel.

Preparation Measures Enforced by the PE Firms Against Economic Slowdown

Cautious Selection of Industries to Invest Into

PE firms, in the times of the corona pandemic, have started refocusing on non-cyclical industries that are less vulnerable to any form of a financial crisis situation. Their key targets, at the moment, are industries that are recession-proof. And that’s the sole reason for their soaring interest in buying stakes at technology firms or the companies in the business services sector.

The top private equity firms are completely avoiding the highly-vulnerable retail and energy sectors as per a heavily-brainstormed investment strategy plan amid the recession.

Expert Advisory is Being Leveraged Optimally

US private equity firms, in the times of the current COVID-led crisis, are continually seeking expert guidance. In the last six months, each investment decision taken by the private equity industry in the US had been finalized after a prolonged discussion with the industry advisors.

Portfolios across a range of industries are being managed with extensive care while taking in the loop the experts of the respective industries. By concentrating on the portfolio-management now, the best private equity firms are ensuring to keep the solutions ready, in case, the pandemic lasts longer than expected.

COVID-19 impact index by industry - minor (1) to severe (5) in 2020
COVID-19 impact index by industry – minor (1) to severe (5) in 2020, Source:Statista

General Partners (GPs) are Rising Up to the Occasion

GPs, that are the key administrators in a PE firm, are busy strengthening the balance sheets of their respective firms, at the same time, cross-verifying the skillset of investment & operations teams, as preparation to the future challenges. Recently, efforts have been made by private equity investment professionals who are working as general partners, to soar up the permanent capital, as a safety precaution to liquidity-dearth.

PE Firms are Amping up Capital-Lending

Private credit strategies are among the most beneficial to PE firms in the times of a crisis, given the limited partnerships they are able to buy in distressed companies to whom they lend the money to. In the long-run, the returns received out of this limited partnership fund model are huge. The strategy is beneficial for both the PE firm and the company borrowing the money in return for a limited partnership offer.

PE Firms Seeking Opportunities to Mindfully Deploy Dry Powder

Given the number of limited partners (LPs) that a PE firm these days constitute, there gets collected a huge pile of cash ready to be deployed in new investments. The contributors to the liquid capital that the PE firms hold comprise sovereign wealth funds, institutional funds, family offices, and the high net worth individuals.

PE funds, currently hold $1.4 trillion that is instantly deployable. Adding the funds collected from other asset classes, i.e. real estate, infrastructure, credit, and growth capital, it soars up to a whopping $2.6 trillion.

Concluding Thoughts

It’s true that there exists a dearth of employment opportunities in private equity amid the ongoing pandemic. There is almost zero availability of private equity jobs at the moment. But, the said sector has managed the crisis with a seemingly less strain. PE, after the great recession of 2008, has evolved into a much mature, and better-resourced sector with a better sense of fighting a financial crisis situation.

News

शुक्रवार को भी संक्रमितों की संख्या ने तोड़ा रेकॉर्ड, रिकवरी रेट भी बढ़ा

corona patiant image
views
6140

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत में COVID-19 संक्रमितों की संख्या में रेकॉर्ड 18,552 नए मामले दर्ज किए गए जिसके साथ भारत मे कुल संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार पहुच गयी । जबकि मृत्यु का कुल आंकड़ा 15,685 हो गया। जबकि पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण की वजह से 384 मौतें दर्ज की गईं।

सक्रिय मामलों की कुल संख्या 1,97,387 है, जबकि 2,95,880 लोग वायरस से इलाज के बाद सही हुए हैं । गौरतलब है कि सिर्फ जून माह के दौरान ही संक्रमितों की संख्या में 3 लाख का इजाफा हुआ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, “इस प्रकार, अब तक लगभग 58.13 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं।” पुष्टि किए गए मामलों की कुल संख्या में विदेशी शामिल हैं।

ये भी पढ़े :  कोरोना से बचाव में हैंडवाश ओर डिस्टेंसिंग से ज्यादा कारगर है ये चीज

शनिवार की सुबह तक दर्ज की गई 384  मौतों में से 175 महाराष्ट्र में, 63 दिल्ली में, तमिलनाडु 46, उत्तर प्रदेश में 19, गुजरात में 18, हरियाणा में 13, आंध्र प्रदेश में 12, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक में 10, तेलंगाना में सात, मध्य प्रदेश में चार, पंजाब में दो, जम्मू-कश्मीर, छत्तीसगढ़, बिहार, राजस्थान और उत्तराखंड में एक-एक।

अब तक भारत मे कुल 77.76 लाख नमूनों की जांच की गई है। गुरुवार को 1 दिन में रेकॉर्ड 215446 नमूने जांचे गए।  देश के कुल संक्रमित मामलों में आधे से ज्यादा सिर्फ 10 बड़े शहरों में पाए गए है जो मुम्बई, दिल्ली, चेन्नई, ठाणे, फरीदाबाद, अहमदाबाद, पालघर, हैदराबाद, रंगारेड्डी, पुणे है।

वही आज प्रधानमंत्री मोदी ने विडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये एक कार्यक्रम को संबोधित करने के दौरान कहा कि भारत की स्थिति अन्य देशों से बेहतर है । हमे अभी और ज्यादा सावधान रहना होगा मास्क ओर सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरत पर भी उन्होंने जोर दिया है।

News

एक जुलाई से बदल रंहे है ये बैंकिंग नियम कोरोना संकट की वजह से 30 जून तक थी छूट

bank rule 1 july
views
6333

बैंक लगभग सभी देशवासियों की आर्थिक गतिविधियों का महत्वपूर्ण हिस्सा है सैलेरी से लेकर , सब्सिडी, जैसी अन्य सरकारी मदद भी सीधे बैंक खाते में आती है। बैंक अपनी अलग अलग सर्विस के लिए ग्रहको से अलग अलग चार्ज भी वसूलते है।

एक जुलाई से बैंकिंग नियम फिर से बदल रहे है । जिसमे एटीएम से नगदी निकालने की भी तय की गई थी बैंको द्वारा , सरकार के द्वारा कोरोना महामारी की वजह से 30 जून तक कि छूट दी गयी थी जिसकी वजह से एटीएम में कितनी बार भी नगदी निकाल सकते थे कोई चार्ज नही लगता था । परन्तु अब 1 जुलाई से ये नियम पूर्ववर्ती हो जाएंगे और तय सीमा से ज्यादा बार एटीएम से नगदी निकालने पर चार्ज देना होगा।

बैंक खाते में न्यूनतम बैंक बैलेंस न रखने पर भी बैंक चार्ज वसूल करता है सरकार द्वारा कोरोना संकट की वजह से 30 जून तक उसमे भी छूट दी गयी थी पर अब 1 जुलाई से ये नियम भी पूर्व की भांति ही लागू होंगे। अब खाताधारकों को खाते में निश्चित न्यूनतम बैलेंस रखना ही होगा नही हो बैंक पेनल्टी वसूल करेगा। वंही कुछ बैंको ने सेविंग अकाउंट में जमा राशि पर मिलने वाले ब्याज दर में कमी की है , पंजाब नेशनल बैंक ने इसपर आधा प्रतिशत की कमी की है

News

दवा आयुष मंत्रालय द्वारा प्रमाणिक नही,मंगवाया ब्यौरा – विज्ञापन पर रोक

Patanjali internal image
views
5885

बाबा रामदेव के पतंजलि संस्थान द्वारा बनाई गई दवाई के 100 प्रतिशत कारगर होने के दावे को आयुष मंत्रालय ने कहा है कि अभी इन दावों की प्रमाणिकता की कोई गारण्टी नही है। मंत्रालय ने इस दवा का विवरण मंगवाया है जिससे पतंजलि द्वारा किये जा रहे दावों की जांच की जा सके । इसके कंपोजिसन ओर रिसर्च के स्थान की भी मंत्रालय को कोई जानकारी नही है।

 

बाबा रामदेव ने आज ही अपनी दवा कोरोनिल की लॉन्चिंग की है जिस दौरान उन्होंने दावा किया है कि ये दवा कोरोना के इलाज में 100 प्रतिशत कारगर है । इसके सेवन से 7 दिन के भीतर मरीज के पुर्णतः स्वस्थ हो जाने की बात भी उन्होंने कही।  रामदेव जी ने कहा कि इस दवा को बनाने में , गिलोय, तुलसी, अश्वगंधा, अणु के तेल जैसी आयुर्वेदिक तत्व मिलाए गए है उन्होंने बोला कि 7 दिन के भीतर ये दवा बाजार में मिलने लगेगी। इसके लिए सोमवार को एक app भी लॉन्च होगा जिसके द्वारा इसकी होम डिलीवरी की जा सकेगी।

आयुष मंत्रालय ने कहा कि मीडिया में चल रही खबरों के बाद संज्ञान लिया गया है और जब तक दावे की प्रमाणिकता की जांच ना हो जाये इसके विज्ञापन पर भी फिलहाल बेन लगा दिया गया है

News

कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर पहुची 56 प्रतिशत के पार 24 घंटे में हुए 11000 ठीक

corona recovery image
views
6031

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए कॉरोना अपडेट 22 जून के आंकड़ों के अनुसार 14,933 लोग पिछले एक दिन में कोरोना संक्रमित पाए गए है। भारत का COVID-19 टैली मंगलवार को 4,40,215 तक पहुच गया। जबकि 312 नई मृत्यु के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर 14,011 हो गई।

अपडेट किए गए आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, सुबह 8 बजे तक 2,48,189 कोरोना संक्रमित रोगी अब तक ठीक हो चुके है । रोजाना ठीक होने वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है जबकि 1,78,014 सक्रिय मामले थे। एक अधिकारी ने कहा, पिछले 24 घंटों के दौरान, कुल 10,994 COVID-19 पोसिटिव लोग पूरी तरह से सही हुए है, जो कोरोनो वायरस संक्रमित रोगियों के बीच रिकवरी दर को 56.38 प्रतिशत तक ले जाते हैं। जो एक राहत वाली खबर है।

ये भी पढ़े :  कोरोना से बचाव में हैंडवाश ओर डिस्टेंसिंग से ज्यादा कारगर है ये चीज

मंगलवार सुबह को दी गए रिपोर्ट के अनुसार 312 लोगों की मृत्यु हुई है जिनमे 113 महाराष्ट्र के, दिल्ली के 58, तमिलनाडु के 37, गुजरात के 21, उत्तर प्रदेश के 19, पश्चिम बंगाल के 14, हरियाणा के 9, राजस्थान के 7 और तेलंगाना के छह, छह थे। मध्य प्रदेश से, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से पांच, जम्मू और कश्मीर से तीन, बिहार और पंजाब से दो-दो और छत्तीसगढ़, गोवा, ओडिशा और उत्तराखंड से एक-एक।

देश मे कोरोना की दवाई बनाये जाने की खबरे आ रही है । अभी अभी बाबा रामदेव ने कोरोना वायरस की आयुर्वेदिक दवाई लांच की है जिसे कोरोनिल नाम दिया है। जिसमे 100 प्रतिशत रिकवरी का दावा किया है रामदेव जी ने एक हफ्ते के अंदर ये दवा बाजार में उपलब्ध होने की बात भी बताई।

News

प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र पर मिलने वाली दवाई का उत्पादन प्रभावित, चीन पर है निर्भर

Pradhanmanri aushodhi yojna
views
6377

जेनरिक दवाई बाकी दवाई से सस्ती होती है,। प्रधानमंत्री जनओषधि केंद्र योजना का मकसद सस्ती दवाई उपलब्ध कराना था । यह केंद्र की महत्वकांक्षी योजना है जिसके अंतर्गत जन ओषधि केंद्र खोलने के लिए सरकार द्वारा ढाई लाख तक का अनुदान दिया गया था। इसके तहत बी फार्मा ओर एम फार्मा किये हुए युवकों को रोजगार के मौके दिए गए थे। पर बाद में बिना डिग्री वालो ने भी ये केंद्र खोल लिए है।

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना (PMJAY) के तहत दवा दुकान से होने वाली दवा की बिक्री पर 20% कमीशन दिया जाता है. सरकार इन केंद्र को जेनरिक दवाओं की लगातार आपूर्ति बनाये रखती है | परन्तु कोरोनो महामारी के चलते इस कारोबार पर बड़ा असर पड़ा है। भारत चीन से जेनरिक दवाइयों के लिए जरूरी एक्टिव फार्मासिटिकल इंग्रेडिएंट्स ( API ) आयात नही कर पा रहा है । विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया है कि who की सलाह पर ऐसा किया गया है। जिसकी वजह से जेनरिक दवाइयों का कारोबार प्रभावित हुआ है ।

ये भी पढ़े :  कोरोना से बचाव में हैंडवाश ओर डिस्टेंसिंग से ज्यादा कारगर है ये चीज

गैरतलब है कि भारत जेनरिक के निर्माण करने में अग्रणी देश है और लगभग 200 देशों में निर्यात भी करता है। विदेश मंत्रालय ने जल्द ही हालात सामान्य होने की उम्मीद जताई है। आयात ओर निर्यात भी जल्दी शुरू हो सकेगा

NewsOffersShoppingTrending

आज से शुरू होगी फ्लिप्कार्ट मोबाइल सेल, गैर चाइनीस ब्रांड्स पर भी मिलेगी भारी छूट

Flipkart moble sale 2020
views
6272

भारत मे लॉकडाउन में छूट दिये जाने के बाद ऑनलाइन डिलीवरी जबसे चालू हुई है सभी ऑनलाइन स्टोर तरह तरह की सेल ला रहे है। mynta , amazon पर सेल चल रही है, वही फ्लिप्कार्ट पर 23 जून से Flipkart big shopping days सेल शुरू हो रही है । जिसमें फ्लिप्कार्ट मोबाइल फ़ोन की खरीद पर आकर्षक छूट का ऑफर दे रहा है जिसमे से बहुत से ब्रांड गैर चाइनीस भी है। इस सेल में आपको, एक्सचेंज ऑफर, ओर emi पर भी फ़ोन उपलब्ध होंगे ।
अगर आपको मोबाइल फ़ोन ख़रीदना है तो ये अच्छा मौका है साथ ही अगर आप भुगतान Hdfc बैंक के कार्ड द्वारा करते है तो आपको 10% एक्स्ट्रा डिस्काउंट भी प्राप्त होगा।

Flipkart Big saving days

 

आइए जानते है कि इस  Flipkart Sale के दौरान किस किस हैंडसेट पर मिल रहा है आफर-

Samsung A80(128gb)- 

एमआरपी- 52000
ऑफर के अंतर्गत कीमत- 21999
फीचर्स –  8 GB RAM | 128 GB ROM
17.02 cm (6.7 inch) Full HD+ डिस्प्ले
48MP + 8MP | 48MP(F2.0) + 8MP(Ultra Wide/F2.2) + TOF (Time-of-Flight) 3D-Depth Rotating Camera
3700 mAh बैटरी
Qualcomm Snapdragon 730G Octa-Core Processor
Brand Warranty of 1 Year Available for Mobile and 6 Months for Accessories

Samsung A21s-

एमआरपी- 19999
ऑफर कीमत- 18999-
फीचर्स-4 GB RAM | 64 GB ROM | Expandable up to 512 GB
16.51 cm (6.5 inch) HD+ Display
48MP + 8MP + 2MP + 2MP | 13MP Front Camera
5000 mAh Lithium-ion Battery
Exynos 850 Octa Core Processor
1 Year Manufacturer Warranty for Phone and 6 Months Warranty for in the Accessories

Samsung Galaxy S10 lite

एमआरपी – 43999
आफर कीमत- 42999
फ़ीचर्स- 8 GB RAM | 128 GB ROM | Expandable up to 1 TB
17.02 cm (6.7 inch) Full HD+ Display
48MP + 12MP + 5MP | 32MP Front Camera
4500 mAh Lithium-ion Battery
Qualcomm Snapdragon 855 (SM8150) Processor
Brand Warranty of 1 Year Available for Mobile and 6 Months for Accessories

I phone xr –

मौजूदा कीमत- 52500
ऑफर कीमत – 48500
फ़ीचर्स- 64 GB ROM
15.49 cm (6.1 inch) Display
12MP Rear Camera | 7MP Front Camera
A12 Bionic Chip Processor
iOS 13 Compatible
Brand Warranty of 1 Year

iPhone xs-

एमआरपी- 89900
ऑफर कीमत- 58999
फीचर्स- 64 GB ROM
14.73 cm (5.8 inch) Super Retina HD Display
12MP + 12MP | 7MP Front Camera
A12 Bionic Chip Processor
1 Year Limited Warranty for Products and Accessories

VivoZ1x (up to 128 GB )

मौजूदा कीमत- 18990
ऑफर कीमत- 14990
फीचर्स- 6 GB RAM | 64 GB ROM
16.21 cm (6.38 inch) Full HD+ Display
48MP + 8MP + 2MP | 32MP Front Camera
4500 mAh Li-ion Battery
Qualcomm Snapdragon 712 AIE Processor
22.5 W Vivo Flash Charge
Brand Warranty of 1 Year Available for Mobile and 6 Months for In-box Accessories

OPPO A9 (2020)

मौजूदा कीमत- 18990
ऑफर कीमत – 12990
फ़ीचर्स- 4 GB RAM | 128 GB ROM
16.51 cm (6.5 inch) Display
48MP + 8MP + 2MP + 2MP | 16MP Front Camera
5000 mAh Battery
Qualcomm SM6125 Processor

Redmi K20 pro

एमआरपी – 28999
मौजूदा कीमत- 23499
फ़ीचर्स- 6 GB RAM | 128 GB ROM
16.23 cm (6.39 inch) Full HD+ Display
48MP + 13MP + 8MP | 20MP Front Camera
4000 mAh Li-polymer Battery
Qualcomm Snapdragon 855 Processor
Brand Warranty of 1 Year Available for Mobile and 6 Months for Accessories

 

ओर भी कई अन्य ब्रांड है , जैसे realme , motorola, iqoo, tecno, infinix, इत्यादि । सेल के अंतर्गत के ब्रांडेड टेबलेट्स पर भी ऑफर्स मिल रहे है।

News

सुरेंदर को स्पेलिंग मिस्टेक बता भाजपा ने किया सरेंडर- कांग्रेस प्रवक्ता

Surender vs surrender
views
5985

आज कांग्रेस उपाध्यक्ष का एक ट्वीट सुर्खियों में बना हुआ है जिसमे राहुल ग़ांधी ने स्पेलिंग मिस्टेक के साथ प्रधानमंत्री को surender modi लिखा। जिसके बाद तो मानो सियासी घमासान ही मच गया भाजपा ने इस बयान पर मर्यादा ना लाँघने की नासियत तक दे डाली। सोशल मीडिया पर ये ट्वीट सुबह से चर्चाओं में है। परंतु अभी तक राहुल गांधी की इसपर कोई प्रतिक्रिया नही आई है कि वे क्या सुरेंदर मोदी लिख रहे थे या उनसे सच मे ही कोई स्पेलिंग मिस्टेक हुई या जान बुझके उन्होंने ऐसा किया।

 

surender vs surrender

कांग्रेस lac में हो रही घुसपैठ के मामले पर हमलावर हो रही है लगातर। राहुल गांधी ने जापान टाइम्स का एक लेख साझा किया है जिसमे प्रधानमंत्री के बयान को चीन की तुस्टीकरण वाला बताया गया है

 

ये भी पढ़े :  सिर्फ 4999 ₹ की मासिक क़िस्त पर खरीदिये ये हैचबैक कार, जानिए फिचर्स

 

कांग्रेस पार्टी की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने मोदी सरकार की ओर से भारत-चीन विवाद पर दिए गए बयानों को लेकर सवाल खड़ा किया है| एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि कांग्रेस को सरेंडर की कोई जल्दी नही है । पर भाजपा ने सुरेंदर को स्पेलिंग मिस्टेक बता वाकई में सरेंडर कर दिया है। कांग्रेस ने सरकार की दुखती रग पर हाथ रख दिया है क्या । क्या सरकार के सामने कोई परेशानी की बात है क्या जो वो इसे सरेंडर मान रही है।

ये भी पढ़े :  सिर्फ 4999 ₹ की मासिक क़िस्त पर खरीदिये ये हैचबैक कार, जानिए फिचर्स

 

सुप्रिया ने कहा कि अगर ऐसा है तो 5 मई से अब तक घुसपैठ को लेकर रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री के भी कई बयान आए हैं. गलवान वैली में चीनी सेना का स्ट्रक्चर होने की बात भी कही गई है. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री प्राइम टाइम में इतना बड़ा बयान देकर चले गए, फिर पीएमओ को क्यों विपरीत बयान देना पड़ा. घुसपैठ पर सरकार को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए|

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि इस मसले पर हम राजनीतिक लोगों से ज्यादा जानकारी सुरक्षा एक्सपर्ट्स और आर्मी जनरल रैंक के अधिकारियों को होती है. 15 जून की घटना के बाद एक बयान में आर्मी जनरल पनाग और प्रकाश मेनन ने कहा कि 1996 रूल्स ऑफ इंगेजमेंट बॉर्डर मैनेजमेंट डॉक्युमेंट है, ना की बॉर्डर डिफेंस डॉक्युमेंट. अगर सीमा पर ऐसा खतरा लगता है कि जवान खतरे में हैं या हमारी जमीन तो हथियार का इस्तेमाल हो सकता है.

उन्होंने कहा कि बीते 10 साल में रूल्स ऑफ इंगेजमेंट नहीं बदला गया है. 15 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र प्राइम टाइम टेलीविजन पर आकर कहते हैं कि ना कोई सीमा में घुसा है और ना कोई घुसा हुआ है. इसके 20 घंटे के बाद पीएमओ उनका स्टेटमेंट बदलता है और कहता है कि वो सिर्फ 15 जून की घटना को लेकर बयान था.

News

मछली पकड़ने के दौरान जाल में फसा रिफाइंड चाय का बैरल, खोलने पर उड़े होश

Machli jaal image
views
6196

यह घटना तमिलनाडु के मल्लापुरम की है जंहा रोजमर्रा की तरह मछुआरे समुंदर में मछली पकड़ रंहे है थे। तभी उनके जाल में एक बैरल फसा उन्होंने खोलके देखा तो उसमें रिफाइंड चाय नही बल्कि कुछ पुडिया थी।

इसकी सूचना तुरंत पुलिस में दी , पुलिस ने जांच में पाया कि उसमें कोई चाय नही बल्कि कोई सफेद रंग का पदार्थ है जिसकी पहचान क्रिस्टल मेथमफेटामाइन नामक नशीले पदार्थ के रुप मे हुई । इसका कुल वजन 78 किलो बताया जा रहा है जिसकी अनुमानित कीमत 100 करोड़ के आसपास है।

ये भी पढ़े  :  सेनिटाइजर का करें संभल के उपयोग, कही जहर तो नही, जानिए जांच का आसान तरीका

पुलिस अंदाजा लगा रही है कि किसी ड्रग तस्करी करने वाले गिरोह का इस घटना में हाथ है। यह दक्षिणी पूर्वी एशिया के में सक्रिय किसी तस्कर की खेप का हिस्सा होने का अनुमान भी लगाया जा रहा है । क्योंकि ड्रग तस्कर ज्यादातर समुद्री रास्तो का इस्तेमाल करते है।

क्रिस्टल मेथ क्रिस्टल मेथामफेटामाइन के लिए एक संक्षिप्त नाम है। यह दवा मेथमफेटामाइन का केवल एक रूप है | मेथामफेटामाइन उपयोगकर्ता के जीवन को नष्ट करना शुरू कर देता है। यह एक बहुत ही नशीली दवा है। अभी बीते कुछ दिनों पहले म्यामार में मादक पदार्थो की एक बड़ी खेप पकड़ी गई थी जो कि दक्षिण पूर्वी एशिया में पकड़ी गई अब तक कि सबसे बड़ी सिंथेटिक ड्रग्स की खेप थी।

English EN Hindi HI