News

News

त्रिवेंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने बनायी खास रणनिति,पढ़े कांग्रेस का प्लान

views
5630

प्रदेश सरकार के खिलाफ कांग्रेस इन दिनों सड़को पर हैं। उत्तराखण्ड सरकार की जन विरोधी, गरीब विरोधी, बेरोजगार विरोधी, किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदेषभर में विधानसभावार कार्यक्रम आयेाजित किये जा रहे हैं। इसकी शुरुआत कोटद्वार से 23 फरवरी को ​की जायेगी। इन विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस के बड़े नेता प्रतिभाग करेगें। जिसमें प्रदेष प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह तथा सहप्रभारी राजेष धर्माणी के साथ नेता प्रतिपक्ष डाॅ0 इन्दिरा हृदयेष सहित सभी प्रदेश के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे
जानकारी देते हुए प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत ने बताया कि कार्यक्रमों की शुरूआत 23 फरवरी को प्रदेष अध्यक्ष के कोटद्वार दौरे से प्रारम्भ हो रही है। उन्होंने कहा कि दिनांक 26 फरवरी को हल्द्वानी में प्रदेष अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में विशाल पद यात्रा का आयोजन किया गया है । उन्होंने कहा कि भाजपा सरकारों की नाकामी व झूठी घोषणाओं के खिलाफ दिनांक 26 फरवरी को हल्द्वानी में आयोजित कार्यक्रम में हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता प्रतिभाग कर भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदेशभर में विधानसभावार होने वाले कार्यक्रमों की शुरूआत करेंगे।
विजय सारस्वत ने बताया कि पद यात्रा की तैयारी हेतु प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह दिनांक 23 फरवरी को कोटद्वार, जसपुर एवं काशीपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ तैयारी बैठक करेंगे। दिनांक 24 फरवरी को बाजपुर, गदरपुर, रूद्रपुर में किच्छा, खटीमा, नानकमत्ता एवं सितारगंज विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं के साथ तैयारी बैठक करेंगे। दिनांक 25 को रामनगर तथा कालाढूंगी में कार्यकर्ताओं की तैयारी बैठक लेंगे तथा दिनांक 26 फरवरी को हल्द्वानी के एम.बी. महाविद्यालय से रामलीला मैदान हल्द्वानी तक होने वाली विशाल पद यात्रा का नेतृत्व करेंगे।
प्रदेष महामंत्री ने भाजपा के मीडिया प्रभारी के बयान को असलियत से दूर और सत्ता के मद मे चूर होकर दिया गया बयान बताया। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेष की सड़के गड्डों में बदल गई हैं। सरकार के पास इतना धन भी नहीं है कि वह इन गड्डों को भर सके। उन्होंने कहा कि विगत कई वर्षो से लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग सहित कई विभागों में सरकार ठेकेदारों का भुगतान नहीं कर पाई है। सरकार को पहले से लिए गये लोन के ब्याज के भुगतान के लिए भी लोन लेना पड़ रहा है। प्रदेश की आर्थिक स्थिति पूरी तरह से चरमरा चुकी है और दूसरी ओर राज्य सरकार विकास की योजनाओं की झूठी घोषणायें कर रही है। डबल इंजन सरकार को प्रदेश की आर्थिक स्थिति पर श्वेत पत्र जारी करना चाहिए।
प्रदेश महामंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी विधानसभावार कार्यक्रमों के माध्यम से पूरे प्रदेष के बेरोजगारों के आंकडे एकत्र कर बतायेगी कि भाजपा सरकार ने अपने तीन साल के कार्यकाल में कितने लोगों को रोजगार दिया।

News

मुंबई में सीएम त्रिवेंद्र का रोड शो, उत्तराखंड के इस बड़े आयोजन के लिए हो रही कवायद

IMG-20200218-WA0030
views
5885

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि उत्तराखण्ड, वैलनेस और आयुष क्षेत्र के लिए निवेश के पसंदीदा स्थल के रूप में उभर रहा है। ऋषिकेश “योग की राजधानी“ के रूप में जाना जाता है। राज्य सरकार द्वारा आयुष एवं वैलनेस तथा पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया है। मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड वैलनेस समिट-2020 के लिए मंगलवार को मुम्बई में आयोजित रोड शो में प्रतिभाग किया।

*योग को पर्यटन से जोड़ने का प्रयास*
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता अपनी आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत को मजबूती प्रदान करते हुए क्षेत्र में पुरातन एवं सांस्कृतिक मूल्यों को पुनस्र्थापित करना है। जड़ी-बूटियों और औषधीय पौधों से सम्बन्धित उद्योग, पर्वतीय क्षेत्र में रोजगार के अवसर प्रदान कर सकते हैं। राज्य में 20 हजार से अधिक योग प्रशिक्षक हैं। राज्य में योग को पर्यटन से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

*देवभूमि उत्तराखण्ड निवेश का बेस्ट डेस्टीनेशन*
मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में उपस्थित उद्योग एवं व्यवसाय जगत के लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि देश की आर्थिक राजधानी में उत्तराखण्ड राज्य का प्रतिनिधित्व करना प्रसन्नता और सम्मान की बात है। उत्तराखण्ड राज्य ने ‘‘देव-भूमि’’ को धार्मिक पर्यटन के साथ-साथ औद्योगिक हब के रूप में विकसित करने के लिए कई सार्थक कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि पृथक राज्य के रूप में अस्तित्व में आने के बाद उत्तराखण्ड, कई विशिष्ट क्षेत्रों के हब के रूप में विकसित हुआ है। राज्य में बढ़ते उद्योगों और आधुनिक आधारभूत संरचना, प्राकृतिक संसाधनों की उपलब्धता तथा उद्यमशील युवा सोच की बढती संख्या का अद्वितीय पूरक मिश्रण है। राज्य लगातार विकास की ओर अग्रसर है।

*पारम्परिक चिकित्सा पद्धति, आयुर्वेद और योग का बढ़ रहा महत्व*
मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरणीय क्षरण एवं जीवन शैली में परिवर्तन से अनेक स्वास्थ्य सम्बन्धी व्याधियों का समाना करना पड़ रहा है। पारम्परिक चिकित्सा पद्वति आयुर्वेद, योग एवं आध्यात्म को अपनाकर इन समस्याओं का निदान कर सकते हैं। उत्तराखण्ड में जो सम्भावनायें हैं, उनका दोहन कर राज्य के आर्थिक विकास को बढ़ावा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज विश्वभर में चिकित्सा क्षेत्र के स्थान पर वैलनेस सैक्टर बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। लोग बेहतर स्वास्थ्य और जीवन यापन को प्राथमिकता दे रहे हैं। प्राचीन काल से ही भारत का का ज्ञान विश्वप्रसिद्ध है। समय के साथ देश-विदेश के लोग आयुर्वेद, योग, ध्यान और प्राकृतिक चिकित्सा की ओर आकृषित हो रहे हैं।

*संस्कृति और अध्यात्म का प्रमुख केंद्र है उत्तराखण्ड*
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत एक विशाल सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विविधता वाला देश है और उत्तराखण्ड इस सम्बन्ध में एक विशेष स्थान रखता है। गंगा, अलकनंदा, भागीरथी, मंदाकिनी जैसी पवित्र नदियाँ, हिमालय, प्राकृतिक सौन्दर्य एवं सभी धर्मों के पवित्र स्थल सहित प्रसिद्ध पर्यटन स्थल आगंतुकों को आकर्षित करते हैं। उत्तराखण्ड के चारधाम केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री राज्य के विकास स्तंभ हैं।

*‘ईज आॅफ डुईंग बिजनेस’ में शीर्षस्थ राज्यों में है उत्तराखण्ड*
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य ने ‘ईज आॅफ डुईंग बिजनेस’ पहल के माध्यम से आवेदन प्रक्रियाओं का सरलीकरण एवं प्रौद्योगिकी के प्रयोग से, इसमें लगने वाले समय को कम किया है। राज्य में एकल खिड़की व्यवस्था, व्यवासाय की स्थापना और संचालन के लिए अपेक्षित सभी लाईसेंस और अनुमोदनों के ‘‘वन स्टाॅप शाॅप’’ के रूप में प्रारम्भ की गयी है।

News

महिला कर्मचारियों को कुछ इस तरह बनाया जा रहा है मजबूत..

IMG-20200218-WA0028
views
5739

 

देहरादून मिशन फाइट बैक के तत्वाधान में उत्तराखंड विधानसभा में महिला कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने एवं आत्म रक्षा के लिए सशक्त बनाने के उद्देश्य से उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने विधिवत महिला आत्मरक्षा प्रशिक्षण एवं संवेदीकरण का विधिवत दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ कियाl
इस अवसर पर अग्रवाल ने कहा है कि उत्तराखंड विधानसभा में विभिन्न प्रकार की गतिविधियां प्रारंभ की गई जिसमें महिलाओं को आत्म सुरक्षा की दृष्टि से प्रशिक्षण देकर उन्हें सक्षम महिला, निर्भय महिला के रूप में तैयार किया जा रहा है l
अग्रवाल ने कहा है कि मिशन फाइट बैक के माध्यम से 7 दिनों तक महिलाओं के आत्मा रक्षा का प्रशिक्षण चलेगा जिसमें विधानसभा मे कार्यरत सभी महिलाएं प्रतिभाग कर रही है l  अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा है कि महिलाओं को शारीरिक एवं मानसिक रूप से मजबूत होना चाहती है महिलाएं आत्मनिर्भर होगी तो यह समाज भी सुरक्षित रहेगा । अग्रवाल ने कहा कि इस प्रशिक्षण से महिलाओं के अंदर आत्मविश्वास में वृद्धि होगी वही कानून और अधिकारों की भी जानकारी इस प्रशिक्षण वर्ग में दी जाएगी ।
अग्रवाल ने कहा है कि मिशन फाइट बैक के माध्यम से देशभर में हजारों महिलाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए हैं l इस अवसर पर मिशन फाइटबैक के संस्थापक कर्नल रोहित मिश्रा ने कहा है कि इस प्रकार के प्रशिक्षण देश के अनेक स्थानों पर आयोजित किए गए हैं , परंतु उत्तराखंड विधानसभा देश की पहली विधानसभा है जहां की महिलाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए जा रहे हैं । उन्होंने इसके लिए विधानसभा अध्यक्ष जी का आभार व्यक्त किया ।

News

योगी सरकार का पांच लाख 12 हजार 860 करोड़ रुपये का भारीभरकम बजट

FB_IMG_1582012563726
views
5782

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने वित्तीय वर्ष 2020-21 का बजट पेश किया. सरकार ने यूपी का पांच लाख 12 हजार 860.72 ( 5,12860.72) करोड़ का बजट किया पेश किया. पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 के मुकाबले 33 हजार 159 करोड़ रुपये ज्यादा का बजट पेश हुआ. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पिछले साल के मुकाबले इस बार साढ़े 6 फीसदी ज्यादा का बजट पेश किया . वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए योगी सरकार ने 10 हजार 967 करोड़ 87 लाख की नई विकास योजनाओं के वित्त पोषण के प्रस्ताव को बजट में शामिल किया है.

कानपुर मेट्रो रेल परियोजना भारत सरकार द्वारा अनुमोदित करते हुए परियोजना की लागत 11076 करोड रुपए अनुमोदित की गई है परियोजना की कुल लंबाई 32 किलोमीटर है कानपुर मेट्रो पर कार्य प्रारंभ हो चुका है। इस परियोजना के लिए 358 करोड रुपये की व्यवस्था की गई है।

आगरा मेट्रो रेल परियोजना के लिए 286 करोड रुपए की व्यवस्था

गोरखपुर तथा अन्य शहरों के लिए मेट्रो रेल हेतु प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं जिसके लिए 200 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज के लिए बजट में किया गया प्रावधान

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 13 लाख से अधिक आवासों का निर्माण कराया गया है योजना के अंतर्गत 7023 गरीब मुसहर परिवारों को आवास दिए गए योजना के परफारमेंस इंडेक्स में उत्तर प्रदेश पूरे देश में पहले स्थान पर है आगामी वर्ष में पांच लाख आवासों के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है जिसके लिए 6240 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है।

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के लिए 5791 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है इस योजना के अंतर्गत दो करोड़ 61 लाख परिवारों के लिए शौचालय निर्माण के साथ प्रदेश में देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

मनरेगा योजना के अंतर्गत आगामी वर्ष में 35 करोड़ मानव दिवस रोजगार सृजन का सरकर का लक्ष्य है। योजना के लिए 4800 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रू अर्बन मिशन के अंतर्गत प्रदेश में 3 चरणों में कुल 19 क्लस्टर चयनित किए गए हैं योजना के लिए आगामी वर्ष में लगभग 175 करोड रुपए की

मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण आगामी वर्ष में योजना के लिए 369 करोड रुपए की व्यवस्था की गई

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के लिए 1357 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है

बुंदेलखंड विंध्य क्षेत्र तथा गुणवत्ता प्रभावित ग्रामों में पाईप पेयजल योजना के लिए 3300 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है।

राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान योजना के अंतर्गत पंचायतों के क्षमता संवर्धन प्रशिक्षण एवं पंचायतों में संरचनात्मक ढांचे की उपलब्धता हेतु 458 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है

मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन योजना के लिए ₹25 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है

ग्रामीण स्टेडियम कथा ओपन जिम की व्यवस्था के लिए ₹25 करोड़ की व्यवस्था की गई है वहीं युवक एवं महिला मंगल दल को प्रोत्साहन हेतु ₹25 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

समाज कल्याण के लिए योगी सरकार ने बजट में बड़ा प्रावधान किया है

वृद्धावस्था किसान पेंशन योजना के लिए 1459 ₹5 की व्यवस्था की गई है

राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना के लिए 1251 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना अंतर्गत 500 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना योगी सरकार ने प्रारंभ की इसके लिए सरकार ने 250 करोड रुपए की व्यवस्था की है

अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति योजना के लिए 2035 करोड रुपए की व्यवस्था की गई

पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत 1375 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है

दिव्यांग जन कल्याण पर सरकार का फोकस

दिव्यांग पेंशन योजना के अंतर्गत ₹500 प्रति माह प्रति लाभार्थी की दर से पेंशन दिए जाने के लिए 621 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित है।

समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालयों की स्थापना कराने के लिए 30 करोड़ और दिव्यांग दम पंक्तियों के बच्चों के पालन के लिए पालनहार योजना के लिए ₹25 करोड़ की व्यवस्था की गई है

पर्यटन संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य के लिए बजट में किया गया प्रावधान

अयोध्या में उच्च स्तरीय पर्यटक अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 85 करोड़ की व्यवस्था की गई है तुलसी स्मारक भवन के सुदृढ़ीकरण हेतु 10 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना के लिए 180 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है

उत्तर प्रदेश पर्यटन नीति के अंतर्गत पर्यटन इकाइयों को प्रोत्साहन के लिए ₹50 करोड़ की व्यवस्था की गई है

गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वाटर स्पोर्ट्स के विकास के लिए ₹25 करोड़ की व्यवस्था की गई है

काशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण एवं सौंदर्यीकरण योजना हेतु ₹200 करोड़ की व्यवस्था की गई है

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के अंतर्गत वैदिक विज्ञान केंद्र के निर्माण के लिए ₹18 करोड़ की व्यवस्था की गई है

वही कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए 8 करोड़ रुपए एवं सिंधु दर्शन यात्रा अनुदान के लिए ₹10 लाख की व्यवस्था प्रस्तावित है

ग्रामीण मार्गों के निर्माण चौड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण हेतु 2305 करो रुपए तथा राज्य सड़क निधि हेतु 1500 करोड रुपए की व्यवस्था

प्रदेश में लगभग दो लाख 31 हजार किलोमीटर लंबाई का मार्ग नेटवर्क लोक निर्माण विभाग के अधीन है मार्गों के अनुरक्षण हेतु 3524 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है

विश्व बैंक की सहायता से प्रस्तावित उत्तर प्रदेश को रोड नेटवर्क परियोजना के अंतर्गत मार्ग निर्माण कार्यों के लिए 830 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है

नेपाल राष्ट्र को जोड़ने वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा पर उत्तर प्रदेश के 7 जिलों में मार्ग निर्माण के लिए 14 करोड़ तथा भूमि अध्यापक के लिए 124 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित है

पुलों के निर्माण के लिए 2529 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित

जल शक्ति एवं नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति

सरयू नहर परियोजना हेतु 1554 करोड रुपए, मध्य गंगा नहर द्वितीय चरण हेतु 1736 करोड रुपए , अर्जुन सहायक परियोजना हेतु 252 करोड़ ₹65 लाख की व्यवस्था

राजघाट नहर परियोजना, वाटर सेक्टर रिस्ट्रक्चरिंग परियोजना तथा कनहर सिंचाई परियोजना हेतु क्रमशः 393 करोड रुपए, 295 करोड रुपए तथा 200 करोड़ रुपए की व्यवस्था

बाढ़ नियंत्रण एवं जल निकासी परियोजना हेतु 966 करोड रुपए की व्यवस्था

नहरों की क्षतिग्रस्त पक्की संरचनाओं के निर्माण कार्यों हेतु 300 करोड़ रुपए की व्यवस्था

ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रमों हेतु 3000 करोड़ रुपए की व्यवस्था

मुख्यमंत्री लघु सिंचाई योजना के नाम से क्रियान्वित किए जाने हेतु 216 करोड रुपए की व्यवस्था

कानून व्यवस्था

पुलिस विभाग की अनावासीय भवनों के निर्माण हेतु 650 करोड रुपए तथा आवासीय भवनों हेतु 600 करोड रुपए की व्यवस्था

नवसृजित जनपदों में आवासीय तथा अनावासीय भवनों के निर्माण हेतु 300 करोड रुपए की

पुलिस बल आधुनिकीकरण योजना हेतु 122 करोड रुपए की व्यवस्था

विधि विज्ञान प्रयोगशाला ओं के निर्माण हेतु ₹60 करोड़ की व्यवस्था

सेफ सिटी लखनऊ योजना हेतु 97 करोड़ की व्यवस्था

उत्तर प्रदेश पुलिस फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी की स्थापना हेतु ₹20 करोड़ की व्यवस्था

News

लो जी कर लो बात मंत्री जी के ड्राइवर बन दिला रहे थे नौकरी चढ़े पुलिस के हत्थे

IMG-20200217-WA0036
views
5712

 

किच्छा । सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर आरोपी युवक ने खुद को कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे का खास आदमी बताते हुए पीड़ित युवक से करीब चार लाख तीस हजार रूपए की ठगी कर ली ।

खुद को ठगे जाने का एहसास होने के बाद किच्छा निवासी पीड़ित युवक ने भाजपा नेता अजय तिवारी के साथ पुलिस से आरोपी के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की गुहार लगाई। भाजपा नेता के सहयोग से टीम ने आरोपी युवक को दबोच कर देहरादून पुलिस के हवाले कर दिया। फिपुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर कार्यवाही शुरू कर दी है। किच्छा के ग्राम बंडिया , चीनी मिल कॉलोनी निवासी रवि कुमार के अनुसार देहरादून के विकास नगर निवासी अरविंद कुमार ने उसे पंचायती राज विभाग में 5 लाख रुपए की एवज में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी दिलाने का झांसा दिया था।

पीड़ित के अनुसार आरोपी अरविंद कुमार ने बताया था कि वह उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे की कार का चालक है और पंचायती राज विभाग में उसकी नौकरी लगवा सकता है जिसकी एवज में उसे 5 लाख खर्च करने होंगे ।

पीड़ित रवि के अनुसार वह आरोपी अरविंद के झांसे में आ गया और उसने बैंक के माध्यम से पहली किस्त के तौर पर 1 लाख 30 हजार तथा बाद में अलग-अलग किस्मों के माध्यम से 3 लाख रुपए नगद दे दिए । पीड़ित के अनुसार 4 लाख 30हजार की रकम पहुंचने के बाद आरोपी अरविंद ने जल्द से जल्द बकाया 70 हजार देने की मांग शुरू कर दी ।

पीड़ित रवि ने बताया कि 4लाख 30 हजार रूपए की रकम दिए जाने के बावजूद उसकी नौकरी ना लगने पर उसे अपने साथ ठगी होने का एहसास हुआ, जिस पर उन्होंने भाजपा नेता अजय तिवारी को मामले की जानकारी देते हुए मदद की गुहार लगाई । भाजपा नेता अजय तिवारी ने योजना बनाकर आरोपी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया और 70हजार की बकाया धनराशि देकर पीड़ित रवि कुमार को आरोपी के पास भेज दिया।

देहरादून पहुंचने पर आरोपी अरविंद जैसे ही रवि के पास 70 हजार की धनराशि लेने पहुंचा तो मौके पर पहले से मौजूद भाजपा नेता अजय तिवारी सहित उनके साथियों ने आरोपी अरविंद को दबोच लिया और देहरादून पुलिस के सुपुर्द कर दिया । फिलहाल पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर मामले की जांच व कार्यवाही शुरू कर दी है ।

अनुमान लगाया जा रहा है कि किच्छा निवासी रवि के साथ साथ आरोपी युवक ने अन्य कई लोगों को नौकरी का झांसा देकर लाखों रुपए की ठगी की होगी । पुलिस द्वारा सख्ती से पूछताछ किए जाने पर बड़े रैकेट का भी खुलासा होने की संभावना जताई जा रही है।

News

उत्तराखंड में मुखिया बदले जाने की खबरों के बीच क्या कह गए सीएम त्रिवेंद्र, गजब है यार

CM Photo 01 dt 17 February, 2020
views
6259

उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच मुख्य मंत्री त्रिवेंद्र रावत अपने तयशुदा कार्यक्रम में लगे रहे। जयपुर से दिल्ली पहुंचे सीएम भले ही बॉडी लैंग्वेज से कमफर्ट दिखाई दिए लेकिन बयान में उनके एक दर्द देखा गया।

सीएम त्रिवेंद्र ने मीडिया से बात करते हुए अपना यह दर्द एक तरह से बयां भी कर दिया। दरसअल सीएम त्रिवेंद्र से जब प्रदेश में चल रही राजनीतिक अटकलों को लेकर पूछा गया और पूछा गया कि उनकी भी छुट्टी होने वाली है तो उन्होंने कह डाला कि छुट्टी टी सभी की होनी है, हर किसी की एक दिन छुट्टी होनी है हमारी भी हो जाएगी तो क्या……..

बहरहाल मुख्यमंत्री का यह बयान कई मायनों में अहम हो जाता है। लेकिन राजनीति के जानकार मानते है कि फिलहाल प्रदेश में मुखिया बदले जाने को लेकर किसी तरह की कोई बात नहीं है। यह केवल एक अफवाह है।

आपको बता दे ऐसा पहली बार नहीं इससे पहले भी कई बार शोशल मीडिया पर इस तरह की खबरे लहरा चुकी है।लेकिन इस बार पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के ट्वीट के बाद चली इस खबर के कई मायने निकले जा रहे थे।

सीएम ने किया शहीदों को नमन

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय पुलिस स्मारक पर शहीदों की शौर्य गाथा और पराक्रम को नमन करते हुए पुष्प्प च्रक एवं श्रद्धासुमन अर्पित किया।
इस अवसर पर प्रेस प्रतिनिधियोें को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा की यह राष्ट्रीय स्मारक, राष्ट्र की रक्षा में पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवानों के बलिदान और समपर्ण की याद दिलाता है। उन्होंने कहा की राष्ट्रीय पुलिस स्मारक एक प्रेरणादायक स्मारक है। यह सदैव सर्वोच्च बलिदान की गौरवगाथा को बताता है।
मुख्यमंत्री ने बताया की वर्ष 2013 में उत्तराखण्ड राज्य में आई भीषण आपदा के उपरान्त राज्य में एस.डी.आर.एफ का गठन किया गया है जिसके द्वारा प्राकृतिक आपदा दुर्घटना के समय राहत एवं बचाव का कार्य किया जाता है। वर्तमान में राज्य में एस.डी.आर.एफ की चार कम्पनियाॅ कार्यरत है। मुख्यमंत्री ने कहा की सिटी क्राइम पर नियन्त्रण किये जाने के उद्देश्य से प्रयोग के रूप में उत्तराखण्ड राज्य के चार जनपदों में सीटी पेट्रोल यूनिट (सी.पी.यू) का गठन किया गया है जिसका कार्य चैन स्नेचिंग, महिला छोड़खानी, आटो लिफिटिंग लूट, एक्सीडेंट रोकना आदि है।
मुख्यमंत्री ने बताया की उत्तराखण्ड में वर्ष 2000 से 2019 तक शहीद पुलिसकर्मियों की संख्या 182 है। मुख्यमंत्री ने बताया की देश में शांति व्यवस्था कायम रखने, प्राकृतिक आपदा या दुर्घटनाओं में बचाव और राहत पहुॅचाने का कार्य हमारे जवान करते है और जब भी इनकी जरूरत होती है, यह उस समय मौजूद रहते है । इनकी कर्तव्यपरायणता हम सभी को प्रेरणा देती है।

News

गैरसैंण विकास का हाल – 66 कामों में से अभी हुए केवल 35

IMG-20200217-WA0033
views
6119

 

देहरादून विधानसभा परिसर, देहरादून में उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की अध्यक्षता में गैरसैण विकास परिषद की बोर्ड बैठक आहूत की गई।इस दौरान शासन एवं विभिन्न विभागों के सभी अधिकारी मौजूद थे

गैरसैण विकास परिषद की बोर्ड बैठक के दौरान 22 फरवरी,2019 की बोर्ड बैठक में स्वीकृत कार्यों की समीक्षा एवं पूर्ण कार्यों के फोटोग्राफ के साथ प्रस्तुतीकरण किया गया।इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष द्वारा पूर्ण हुए कार्यों की अधिकारियों के संग समीक्षा की गई।बोर्ड बैठक में अधिकारियों द्वारा बताया गया कि कुल 66 स्वीकृत कार्यों में से 35 कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं जिसमें 30 कार्यों में प्रगति है एवं 1 कार्य अनारंभ है।

बैठक के दौरान उन सभी स्वीकृति योजनाएं पर चर्चा की गई जिसमें द्वितीय किस्त अवमुक्त होनी है बैठक के दौरान अधिकारियों द्वारा बताया गया कि गैरसैण विकास परिषद मैं बोर्ड के गठन के बाद से अभी तक 12 करोड़ की धनराशि प्राप्त हुई है।जिसमें योजनाओं के अंतर्गत कार्यदाई विभागों को लगभग 9 करोड 18 लाख रुपए की धनराशि अवमुक्त की गई है साथ ही वर्तमान में लगभग 2 करोड 81 लाख रुपये की धनराशि अवशेष है।अवशेष धनराशि के लिए कार्यदाई विभागों से प्राप्त नई योजनाओं पर भी विधानसभा अध्यक्ष द्वारा चर्चा की गई। बैठक के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने गैरसैंण ब्लॉक के लिए 60% धनराशि एवं चौखुटिया ब्लॉक के लिए 40% धनराशि के साथ क्षेत्र में विकास कार्य के लिए योजना बनाने की बात कही।

अवगत करा दें कि गैरसैण विकास परिषद की इससे पहले संपन्न हुई बैठक के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने कर्णप्रयाग के विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी एवं द्वारहाट के विधायक महेश नेगी को निर्मित कार्यों एवं निर्माणाधीन कार्यो के भौतिक सत्यापन की बात कही थी।इस बोर्ड बैठक के दौरान विधायकों एवं गैरसैण विकास परिषद के सदस्यों के द्वारा अपनी जांच आख्या भी प्रस्तुत की गई जिसमें सभी निर्मित कार्यों को बोर्ड के सदस्य द्वारा सहमति जताकर सत्यापित किया गया है।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कर्णप्रयाग एवं द्वारहाट के विधायकों को आपस में बैठक कर नई कार्य योजनाओं को आने वाली बैठक के दौरान बोर्ड के समक्ष रखने की बात कही साथ ही अग्रवाल ने कहा कि विकास परिषद बोर्ड की अगली बैठक गैरसैण में होने वाले बजट सत्र के दौरान आहूत की जाएगी।जिसमें की नयी कार्य योजनाओं को स्वीकृत किया जाएगा।

NewsTechnology

How to Fix QuickBooks Error 3371 | Code Issues 18009934190

QuickBooks-Error-3371
views
6442

QuickBooks Error Support lets you settle Error 3371 in QuickBooks

QuickBooks Error 3371 is caused when QuickBooks couldn’t stack the permit information. The significant reason behind this mistake is missing or harm of documents.

Explanations behind this Error

• Any part or record which is required by QuickBooks Desktop to run is absent or harmed.

• QBregistration.dat – Qbregistration.dat is a QuickBooks Desktop establishment record which contains the permit data. The permit data should be recovered and approved each time the QuickBooks work area is made dynamic. QuickBooks Desktop won’t open if the record is harmed.

• MSXML segment – The QuickBooks Desktop needs this Microsoft part to run. Qbregistration.dat record permits QB to open just when the QuickBooks work area can recover data with the assistance of this segment.

• Expiry or obsolete enemy of infection projects or windows working framework that isolates some QuickBooks Desktop records.

• Right Networks and QuickBooks Enterprise with WebConnect clients: If you don’t spare the record first you may encounter this issue. Before bringing in the .QBO record you should spare the document.

• If you see any of these mistake messages given beneath, execute the accompanying investigating steps referenced in the article when you initiate QuickBooks work area or call QuickBooks blunder support.

At the point when the client re-arranges the work area or arrangement the QuickBooks error 3371 status Code 11118 organization document for the absolute first time, this sort of mistake could be experienced. An obsolete windows working framework may wind up right now issue. This, yet additionally a harmed or missing windows segment can be the explanation for the event of any such blunder. The client may even have an antivirus program that would hinder the QuickBooks records.

Disposing of this mistake turns out to be simple with the procedures referenced right now. In any case, for moment support, the client can ring up at our cost free number and address our QuickBooks undertaking specialized help group at +1(800)993-4190.

QuickBooks from Intuit has been administering the outlines with regards to dependable bookkeeping programming. It’s protected, it’s precise, and it’s dependable – those are the 3 key factors that make the item a most loved among private companies and experts. When something strikes positive on those three essential grounds, nobody whines if it’s a piece on the pricier side.

 

All things considered, no product is full-evidence, and QuickBooks is no special case to this reality. The product has been accounted for to contract dreadful blunders that require quick consideration if clients need to keep working. One such blunder is the QuickBooks Error 3371. We should utilize this post to discover what triggers this blunder and how might it be settled.

News

पैर फिसला और महिला गंगा में, देखते रह गए लोग

Screenshot_20200215-181914~2
views
6276

रूद्रप्रयाग में अलकनंदा और मंदाकिनी नदी के संगम स्थल पर एक महिला का पैर फिसलने से नदी के तेज बहाव में बह गई जिसके बाद से महिला लापता चल रही है। पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर है और गोताखोरों की मदद से महिला की भूमि खुद शुरू कर दी गई है।

जानकारी के मुताबिक नमिता पत्नी अनूप सिंह नेगी 33 वर्ष निवासी गहङखाल बचणस्यू हाल रूद्रप्रयाग आज शाम को करीब 4:00 बजे संगम पर पूजा अर्चना के लिए गए थे। उनके साथ में उनकी पड़ोस में रहने वाली है एक लड़की भी थी अलकनंदा और मंदाकिनी के नदी स्थल और गंगाजल भरते समय आता ना कि नमिता का पैर फिसल गया जिस कारण वह नदी के तेज बहाव में लापता हो गई घटना के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस और प्रशासन को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस और एसडीएम सदर पहुंचे साथ में गोताखोरों की टीम भी मौजूद है महिला की नदी में तलाश की जा रही है लेकिन अभी तक महिला का कोई पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि महिला के दो अबोध बच्चे हैं और पति जिला चिकित्सालय में कार्यरत है।
आपको बताते चलें क्योंकि वर्ष 2013 की आपदा से संगम स्थल में भयानक त्रासदी मची थी जिस कारण जहां तमाम सुरक्षा के उपाय बाढ़ की भेंट चढ़ गए थे लेकिन तब से आज तक अलकनंदा मंदाकिनी के इस संगम स्थल पर सुरक्षा के कोई भी इंतजाम बात नहीं किए जा सके हैं सामाजिक कार्यकर्ता व जन अधिकार मंच के अध्यक्ष मोहित डिमरी ने कहा के स्थानीय लोगों के साथ-साथ देश विदेश के तीर्थ यात्री भी संगम स्थल पर पूजा अर्चना के लिए आते हैं लेकिन नगर पालिका और जिला प्रशासन की लापरवाही के कारण यहां पर आज तक सुरक्षा के कोई भी इंतजाम नहीं किए गए हैं इस तरह की घटनाएं कई बार हो चुकी है लेकिन जिम्मेदार विभाग सबक लेने को तैयार नहीं है उन्होंने कहा ऐसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए नगर पालिका और जिला प्रशासन को गंभीरता से ध्यान देना होगा।
बाइट- कुँवर सिंह बिष्ट कोतवाल
बाईट- मोहित डिमरी सामाजिक कार्यकर्ता
बाईट- लक्ष्मी खन्ना

News

सात जन्मों की कसम के साथ दूल्हे ने दुल्हन से किया ऐसा वादा जो सबके लिए है जरूरी

Screenshot_20200215-154449~2
views
5832

किया सात वचनों के बंधन से पहले नवविवाहित जोड़े ने पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए लंढोरा के सरकारी अस्पताल में पौधारोपण किया गया। इस दौरान दूल्हे ने जीवन भर पौधे की देखभाल करने का संकल्प लिया। दूल्हा-दुल्हन द्वारा विदाई से पहले पौधारोपण करने को लेकर पर्यावरण मित्रों ने सराहना की है।

जानकारी के अनुसार टिकोला कला से लंढौरा में बारात आई थी। बताया गया है कि बारातियो व घरातीयो ने खाना खाने के बाद शादी की रस्म अदा की गयी । इसी बीच सात वचनों के बंधन की प्रक्रिया से पहले दूल्हे अशोक व दुल्हन प्रियंका सरकारी अस्पताल पहुंचे और अस्पताल के प्रांगण में नवविवाहित जोड़े ने पर्यावरण को बढ़ावा देने की नियत से पौधारोपण किया।

इस दौरान नवविवाहित दूल्हे अशोक ने बताया कि सगाई होने के साथ ही उसने पर्यावरण को बढ़ावा देने का संकल्प लिया था और उसने यह बात अपनी नवविवाहित पत्नी को भी बताई थी जिस पर दोनों ने वरमाला के बाद पौधारोपण करने का संकल्प लिया था।

और इसी कड़ी में सरकारी अस्पताल में बारात की विदाई से पहले पौधारोपण किया गया।

दूल्हा अशोक ने बताया कि वह जब भी अपनी ससुराल आएगा तो वह अस्पताल पहुंचकर शादी के दिन लगाए गए पौधे की देखभाल करने के साथ ही पानी की सिंचाई भी करेगा। इस दौरान दुल्हन प्रियंका ने बताया उसके पति ने पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए पौधारोपण करने का संकल्प लिया था और इसी कड़ी में दोनों ने बारात की विदाई से पहले पौधारोपण किया ।उन्होंने आह्वान किया यदि सभी इसी तरह पौधारोपण करेंगे तो जहां पर्यावरण को बढ़ावा मिलेगा वही हवा भी दूषित होने से बचाई जा सकती है।

इस मौके पर सीएससी के फार्मेसिस्ट बलवीर गुसाई ने बताया कि नवविवाहित जोड़े द्वारा राजकीय अस्पताल में पौधारोपण किया गया है। और यह एक अनूठी पहल है। इसका सभी को अनुसरण करना चाहिए। नवविवाहित जोड़े द्वारा अस्पताल में पौधारोपण करने की पहल की लोगों द्वारा सराहना की जा रही है।

News

तिरंगा यात्रा के के जरिए हरीश रावत करने जा रहे हैं यह बड़ा काम

tiranga yatra
views
5908

लक्सर में आज भारत जोड़ो तिरंगा यात्रा की शुरुआत सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सभी कार्यकर्ताओं के साथ हाथो में तिरंगा लेकर ओर देशभगति के गीतों के साथ जोर शोर से की।यह यात्रा बालावाली तिराहे से ओवर ब्रिज ,हरिद्वार रोड,रुड़की तिराहा,से सुल्तानपुर,पहुंची।जगह जगह इस यात्रा पर फूलों की वर्षा की गई।

कांग्रेस सेवा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी भाई देसाई ने कहा कि केंद्र सरकार बेरोजगार गरीबी आर्थिक हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। अपनी इन्हीं विफलताओं को छुपाने के लिए सरकार जनता का ध्यान इन महत्वपूर्ण मुद्दों से हटाकर दूसरों मुद्दों पर लगाने का प्रयास कर रही है। लालजी भाई देसाई शुक्रवार को कांग्रेस सेवादल की ओर से भारत जोड़ो तिरंगा पदयात्रा निकाले जाने के अवसर पर लक्सर में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

 

कहा कि व्यवस्था को हटाकर कांग्रेस सेवादल सरकार की ओर से फैलाई जा रही है।वैमनस्यता को हटाकर भाईचारा सामाजिक सौहार्द को बढ़ाने के लिए देशभर में 50 भारत जोड़ो तिरंगा यात्रा आयोजन करने जा रहा है।

उत्तराखंड में इसकी शुरुआत लक्सर से हो रही है। लक्सर से देहरादून तक 75 किलोमीटर तिरंगा यात्रा निकाली जा रही है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 70 वें जन्मदिवस पर इस 75 किलोमीटर पर यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि आज देश में किसानों की हालत बड़ी ही खस्ता है। किसान के समक्ष रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है।उन्हें उनकी फसलों का वाजिब दाम नहीं मिल पा रहा है।

 

किसानों की गन्ना की बकाया धनराशि का भुगतान प्रतिमाह दिए। जाने की वकालत की कार्यक्रम में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य बड़े नेताओं ना आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी का हर नेता व कार्यकर्ता पार्टी का सिपाही है। उन्होंने पार्टी में गुटबाजी होने के सवाल को गलत बताया कार्यक्रम में आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि पुलवामा हमले के लिए सरकार को दोषी ठहराते हुए। कहा कि पुलवामा हमले में 45 जवानों की शहादत हुई है। जिसके पीछे केंद्र सरकार की साजिश रही है। उन्होंने पुलवामा हमले के शहीदों की शहादत की निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी का गठन किए जाने एवं निष्पक्ष जांच किए जाने की वकालत की उन्होंने कहा कि हमले के दौरान कितने पुलिस अधिकारी आतंकियों से मिले हुए थे।तथा जिस गाड़ी में आरडीएक्स आया हुआ था वह गाड़ी किसकी थी।

इसका भी खुलासा होना चाहिए उन्होंने कहा कि हरीश रावत को अभी तक सूबे का चार बार मुख्यमंत्री होने चाहिए था। लेकिन इसके लिए पार्टी के ही कुछ नेता जिम्मेदार है। जिनके द्वारा हरीश रावत की टांग खिंचाई की गई। उन्होंने हरीश रावत को जमीन से जुड़ा नेता बताते हुए।

किसानों गरीबों एवं मजदूरों का मसीहा बताया कांग्रेस सेवा दल के जिला अध्यक्ष राजेश रस्तोगी ने लक्सर में तिरंगा यात्रा से पूर्व पुलवामा में हुए हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए। उनकी आत्मा की शांति के लिए हवन यज्ञ आयोजन हुआ। तत्पश्चात ध्वजारोहण लालजी देसाई ने किया सेवादल के कार्यकर्ताओं ने सलामी दी। और राष्ट्र गान गाया।इस मौके पर काफी संख्या में कोंग्रेसियो ने भाग लिया।

English EN Hindi HI