Uncategorized

Uncategorized

DomainRacer vs HostGator – Reasons I Choose DomainRacer

domainracer-vs-hostgator
views
5768

 

In DomainRacer Vs HostGator general overview these two web hosting providers offer affordable hosting services. By purchasing their low-cost web hosting company plans you can start your website within a minute.

However, in between them you have to choose one service which is better for you and find the answer with the best web hosting solution, so we have compared these two web hosts like by their performance.

Performance & Reliability – DomainRacer Vs HostGator  

The reliability and quality of performance DomainRacer are the Best Hosting’s plans perform up to 20x times faster than regular servers.

domainracer performance

It powered by 20x faster SSD (Solid State Drive) LiteSpeed servers, where the HostGator domain doesn’t offer fast hosting services which rank as page speed score. In DomainRacer the total page size and full-loaded time are low than HostGator.

hostgator performance

DomainRacer vs HostGator Hosting Pro and Cons  

SSL certificates as an extra layer of security on the internet which allows secure connections from a web server to a website browser. Many companies have to be concerned with security.

Most of the services the best web hosting and KVM storage VPS solutions always provide security to top priority. Here the DomainRacer offers a free SSL certificate with all plans also in the HostGator domain it offers an SSL certificate with all business packages.

Here are some pro and cons of DomainRacer vs HostGator web hosting service in 2020.

Host NameProscons
 

DomainRacer

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

HostGator

 

 

 

●        Free Domain .in or .com

●        Website hosting unlimited

●        Unlimited Bandwidth and disk space

●        20x Faster LiteSpeed tech

●        Free MySQL and Email accounts

●        Free FTP and Cloudflare CDN

●        Free Lets Encrypt SSL Certificate

●        Easy to use  DomainRacer cPanel to manage your web hosting

●        Very fast page loading time

●        99% uptime guarantee on all plans

●      24/7 Excellent customer  support

 

●        Disk Space unlimited

●        Unlimited Bandwidth

●        Unlimited Domains Host

●        Unlimited MySQL Databases

●        cPanel Interface

●        99.9% Uptime.

●        Money-Back Guarantee within 45 days

 

●        When  their prices are not high, they are not as competitive as their competitors

●        They are not as good as advertised on the website because page loading times are great.

 

 

 

 

 

 

●        Slower Customer Support Response Times

●        Support has been spotty in the past.

●        Website performance not always the best.

●        Restore from backups requires additional fees.

●      Not the most economical option for business hosting.

 

DomainRacer vs HostGator offer many features in their packages:

  • Features and plans comparison.

DomainRacer offers four plans like Basic, Personal, Silver, and Advanced Shared hosting plans. And the HostGator hosting business plans are Starter, Hatchling, and Baby Business have four hosting plans.

DomainRacer offers affordable hosting plans for their customer because its plans start at a very cheap price.

  • Control Panel Interface.

The control panel is the user interface. DomainRacer and HostGator hosting providers offer cPanel to their customers.

Control Panel is the easiest way because cPanel comes with more than 400+ one-click installers like WordPress, Drupal, and Magento, Joomla, etc. This is the best software for a new one.

  • Technical Support 24×7 and Quality

If you are a newbie in the web hosting then you need technical support at any services like real-time and the Web hosting service Provider Company having the best technical team.

Whenever you face problems with your website, the support team must be able to solve it. Herewith DomainRacer, you can get the fastest response from their customer support team there is an understanding team of support available at DomainRacer.

DomainRacer vs HostGator – Which Host is Better Value for Money?

DomainRacer represents better value for money than the HostGator domain. HostGator plan are more expensive than DomainRacer so DomainRacer has a cheaper price and web Hosting plans than HostGator also in performance and reliability DomainRacer is high in the ranking.

Which is better for small business DomainRacer and HostGator Domain?

DomainRacer is beat HostGator domain because of its website speed score and performance is high than the HostGator domain.

In DomainRacer it’s easier to use and has the best uptime of 99.99% so your business can get online more easily, and also it stays online for longer and gives you 24*7 technical support so, in our ranking DomainRacer is the best-hosting provider for small business.

 DomainRacer Reviews vs HostGator Review:

There are many customer reviews for both companies before buying any web hosting service; you will check the Real customer reviews.

Some customers of each are generally very happy with their services. Check their reviews you can read the few Review of DomainRacer and HostGator below.

HostGator offers a lot of benefits for shared hosting. The customer service was good and user-friendly.

However, a top reseller hosting providers combination of the slow speeds and extra pricing hikes make it too expensive to be considered a decent value because of that HostGator WordPress cloud hosting is a little more expensive.

Summary:

When you are looking best in one, Based on the comparison DomainRacer vs HostGator performance, Uptimes and page loading times have to be on top of your list which is high in priority and you should try your best web hosting provides an affordable price.

 

Uncategorized

Online Vedic horoscope can help you flourish your life

horoscope_tabij.in_
views
6114

Free personalized horoscope can help people to plan a better life and future. Vedic horoscope or Hindu horoscope can inform you about future, personality, nature, lifestyle, education, health, career, love, marriage and many more.

For accurate horoscope predictions, horoscope specialist needs janampatri i.e., date of birth, birth timing, and birthplace. Date of birth helps to find the planetary position of the day. Time of birth and place helps in flourishing other house positions.

What is janampatri?

You must have heard about a Janampatri at least once in your life span. But do you know what powers free personalised horoscope based on date of birth hold for you? Birth chart wheel helps you to reveal your potential and what you can aim for.

Janampatrika signifies one’s birth chart which tells all about the position of the planets, stars and zodiac signs according to the birth time, place of the native.

Free online horoscope reading for horoscope matching:

Horoscope Matching/Kundli matching is the match-making element based on the traditional system of searching the possible Compatibility between couples for marriage. Using this one can predict whether the couple will have a healthy life and lead problems free life with his/her partners. So if you are interested in finding your free personal horoscope and check for compatibility with any person of opposite sex you can consult with best astrologer in India and get free horoscope prediction by horoscope specialist.

Why one should do Kundli/Horoscope matching?

The decision to marry someone cannot be concluded in a few meetings. For any relationship to be successful, one needs to understand their partner well and spend time to know them better. This is where Horoscope matching and birth chart compatibility come to an aid.

Online Kundli matching is also important because one may hide their personalities, interests or weakness or even lie about it. Kundlis or natal charts don’t lie. It is possible that an individual’s personality change over time for good or bad. Astrology Kundli matching can help to predict those changes and their clash on the relationship between the couple if they were to marry.

Marriages matchmaking process by Horoscope prediction specialist:

The lagan Kundli matching or reading online free horoscope is a matching process that mainly these factors – Guna Milan, Navamsa Charts, Yoga and Doshas in a person. Jataka matching by name and date of birth is based on Ashtakoot or Dashakoot methodology. Of these, the Ashtakoot method is commonly used for Kundli matching by date of birth.

Free Vedic daily horoscope:

Matchmaking can prepare you well in advance and guide you to overcome your marriage problems. Tabij.in have brought exciting features to predict future like horoscope matching, reading free personal horoscope based on your Birth chart and on many others aspects, make sure you contact with our horoscope specialist astrologer for free personalized horoscope or you may visit Tabij.in

NewsUncategorized

उत्तराखंड का विपक्ष सीएम दरबार में-मुख्यमंत्री से इन मुददों पर कार्यवाही की मांग को लेकर की मुलाकात

views
6092

कई माह से ई रिक्शा चालाक अपनी मांगों को लेकर हड़ताल में बैठे है ऐसे में अब कांग्रेस भी ई चालाक की हडताल का समर्थन कर रहे है। इसी संबंध में आज कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने सीएम आवास पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात की।

प्रीतम सिंह ने मुख्यमंत्री से देहरादून में चल रही ई रिक्शा वालों की हड़ताल पर हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए कहा कि पिछले छह माह से देहरादून पुलिस प्रशासन ने ई रिक्शा का संचालन शहर के सभी मुख्य मार्गों में प्रतिबंधित किया हुआ है जिसके कारण ई रिक्शा चालकों के घरों में भुखमरी की नोबत आयी हुई है और ई रिक्शा के लिए जिन लोगों ने ऋण लिया हुआ है उनकी किश्तों की अदायगी न होने के कारण उनकी वसूली के नोटिस आने लगे हैं जिसके कारण कल परेशान हो कर ई रिक्शा वाले ने अपने रिक्शा में आग लगा दी।

साथ ही मुख्यमंत्री को प्रतिनिधिमंडल ने आंगनवाड़ी कार्यकात्रियों के आंदोलन का समाधान निकालने की मांग की। वही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि ई रिक्शा के बारे में वो भी चिंतित हैं और इस विषय का समाधान जल्द करेंगे। आंगनवाड़ी , अल्पसंख्यक वर्ग व शिशमबाड़ा के बारे में भी यथा संभव करने का आश्वासन मुख्यमंत्री ने दिया।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से सीएम आवास में मिला। प्रीतम सिंह ने मुख्यमंत्री से देहरादून में चल रही ई रिक्शा वालों की हड़ताल पर हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए कहा कि पिछले छह माह से देहरादून पुलिस प्रशासन ने ई रिक्शा का संचालन शहर के सभी मुख्य मार्गों में प्रतिबंधित किया हुआ है जिसके कारण ई रिक्शा चालकों के घरों में भुखमरी की नोबत आयी हुई है।

प्रीतम सिंह ने सीएम से कहा कि सरकार को आंगनबाड़ी के मामले में उनकी जायज मांगों को मान कर आंदोलन समाप्त करना चाहिए। प्रीतम सिंह ने मुख्यमंत्री से पिछले आठ दिनों से परेड ग्राउंड में संविधान बचाओ के कार्यकर्ताओं से बातचीत कर उन्हें राज्य सरकार की ओर से आश्वस्त करने की मांग की । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को राज्य के अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों को आश्वस्त करना चाहिए कि वे और उनके हित उत्तराखंड में सुरक्षित हैं।

NewsUncategorized

उत्तराखंड में खनन चुगान को लेकर कैबिनेट लिया बड़ा निर्णय, बहुत ख़ास रही इस बार की कैबिनेट

IMG-20200130-WA0005
views
6204

देहरादून उत्तराखंड कैबिनेट ने गुरुवार को कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपनी मुहर लगाई। सचिवालय में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई इस बैठक कुल 16 प्रस्तावों पर मंत्रिमंडल में सहमति दी। कैबिनेट ने खनन चुगान की नीति में संशोधन करते हुए बड़ा फैसला लिया। अब खनन चुगान कि गहराई को 1.50 मीटर से बड़ा कर 3 मीटर कर दिया गया है।

 

इसकी जानकारी शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने सचिवालय स्थित मीडिया सेंटर में दी। कैबिनेट निर्णय के 16 बिन्दु निम्न हैः-

1. उत्तर प्रदेश परिवहन प्राविधिक सेवाओं में भर्ती के लिए अधिकतम आयु 35 से बढ़ाकर 42 साल की गई।
2. वैट के पुराने मामलों की सुनवाई के लिए समय 2020 जनवरी से बढ़ाकर मार्च 2020 किया गया।
3. पी.डब्लू.डी विभाग में वर्कचार्ज कर्मियों को पेंशन चार किश्तों में दी जानी थी, सर्वोच्च न्यायालय ने 03 माह में देने को कहा था, अब सरकार पुनर्विचार के लिए अवधि बढ़ाने के लिए मा0 सर्वोच्च न्यायालय में जाने की अनुमति प्रदान की गई।
4. केदारनाथ पुननिर्माण के कार्यो के लिए कंसलटेंट को भुगतान की कंसलटेंसी फीस अब 2 प्रतिशत होगी, पहले 3.2 प्रतिशत थी।
5. जयहरीखाल में आवासीय विद्यालय खोला जाएगा। यह विद्यालय ट्रस्ट के माध्यम से संचालित होगा। इसके अध्यक्ष मुख्यमंत्री होंगे और उपाध्यक्ष शिक्षा मंत्री होंगे। 60 प्रतिशत का योगदान हंस फाउंडेशन के माध्यम से होगा।
6. ऋषिकेश आई.डी.पी.एल. स्थित 830 एकड़ भूमि की लीज मार्च में खत्म, केंद्र इस जमीन को राज्य को वापस करेगा। 200 एकड़ जमीन ऋषिकेश एम्स को मिलेगी बाकी पर्यटन के पास रहेगी। समस्त भूमि सर्वप्रथम वन विभाग के अधीन की जाएगी। इसके बाद पर्यटन विभाग को दी जायेगी।
7. उत्तराखण्ड उपखनिज नियमावली 2001 मंे संशोधन करते हुए नदी चुगान क्षेत्र में चुगान की गहराई 1.5 मीटर से बढ़ाकर 3 मीटर अथवा ग्रांउण्ड लेवल तक करने की अनुमति दी गई।
8. अल्मोड़ा नैनीसार में आवासीय निजी स्कूल को दी गई। 4 करोड़ लागत की 7.06 हेक्टेयर की भूमि के प्रस्ताव पर पुर्नविचार किया जाएगा। यह देखा जाएगा कि पांच वर्ष में उस भूमि का कितना उपयोग हुआ है।
9. राज्य सरकार जनपद अथवा अन्य कोई भी निकाय क्षेत्र में किसी भी स्लाॅटर हाउस, पशु वधशाला को बंद करने के अधिकार है, प्राप्त करने के लिए अध्यादेश लायेगी। इससे अब सरकार किसी भी क्षेत्र को प्रतिबंधित कर सकेगी।
10. कुम्भ मेला 2021 के लिए 31 पदों की स्वीकृति उप मेलाधिकारी-1, सूचना अधिकारी-1, सहायक लेखाकार-1, वरिष्ठ सहायक- 1, कनिष्ठ सहायक- 2, डाटा एन्ट्री आॅपरेटर- 4, चपरासी- 2, चैकीदार- 1, मेट-1, बेलदार-10, राजस्व निरीक्षक- 2, उप राजस्व निरीक्षक- 5
11. वेलनेस समिट के लिए भारतीय उद्योग संघ पार्टनर के रूप में काम करेगा। अप्रैल 2020 में आयोजन होगा।
12. खनिज नियमावली के अवैध भंडारण के मामलों में सुनवाई के अधिकार एडीएम अथवा राज्य सरकार द्वारा अधिकृत अधिकारी को प्रदान किया जाएगा।
13. सेवा का अधिकार का वर्ष 2017-18 एवं वर्ष 2018-19 वार्षिक प्रतिवेदन विधानसभा में प्रस्तुत किया जाएगा।
14. एनएच चैड़ीकरण में सड़क किनारे भूमि कब्जेदारी को मुआवजा दिया जाएगा।
15. उत्तर प्रदेश जमीदारी भूमि व्यवस्था के धारा 143 मास्टर प्लान के अनुसार सीधे प्राधिकरण में लैंड यूज चेंज के लिए दिया जाएगा। यह कृषि भूमि होनी चाहिए।
16. उत्तराखण्ड श्रम सेवा नियमावली 2020 का प्रख्यापन किया गया।

NewsUncategorized

उत्तराखण्ड में वाटर मैनेजमेंट प्रोजेक्ट के 1203 करोड़ रूपए में बनेगें बैराज और झील

aqa
views
6277

देहरादून ब्यूरो। नीति आयोग द्वारा ‘‘जलसुरक्षा के लिए हिमालय के जलस्त्रोतों के पुनर्जीवन’’ पर प्रकाशित रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए यह प्रोजेक्ट तैयार किया जा गया है। प्रोजेक्ट की प्री-फिजीबिलीटी रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। इसके तहत प्रस्तावित बांध, नहरों व तालाबों के निर्माण की डीपीआर बनाई जा रही है। इसकी अनुमानित लागत 1203 करोड़ रूपए है।

प्रस्तावित ‘उत्तराखण्ड वाटर मैनेजमेंट प्रोजेक्ट’’ के तहत जलस्त्रोतों के पुनर्जीवन, जलाशयों से गाद निकालने, तालाबों के निर्माण और नहरों के पुनरूद्धार पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड वाटर मैनेजमेंट प्रोजेक्ट पर गम्भीरता और समयबद्धता से काम करने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे प्रदेश को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष आर्थिक लाभ मिलने के साथ ही सकारात्मक सामाजिक प्रभाव भी होंगे। पर्यावरण और वन्य जीवन के संरक्षण में भी यह प्रोजेक्ट सहायक रहेगा।

जलस्त्रोतों की मैपिंग और स्प्रिंग शैड मैनेजमेंट
जलस्त्रोतों के पुनर्जीवन के तहत जलस्त्रोतों की मैपिंग और स्प्रिंग शैड मैनेजमेंट किया जाएगा। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाईड्रोलॉजी रूड़की द्वारा लघु चैक डैम बनाने, ट्रेंचेज को रिचार्ज करने और कैचमेंट एरिया में पौधारोपण का सुझाव दिया गया है। स्त्रोतों के पुनर्जीवन पर लगभग 90 करोड़ रूपए की लागत आएगी।
ग्रेविटी आधारित सिंचाई स्किमों का पुनरूद्धार
मौजूदा नहरों के पुनरूद्धार के तहत 382 लघु सिंचाई की नहरों/गूलों की मरम्मत के लिए 95 योजनाओं का काम लिया गया है। इन 95 ग्रेविटी स्किमों के पुनरूद्धार व नवीनीकरण पर 324 करोड़ रूपए की लागत अनुमानित है।
जलाशयों की डिसिल्टिंग
जलाशयों के डिसिल्टिंग के तहत हरिपुरा और बौर जलाशयों की डिसिल्टिंग कर इनकी सिंचन क्षमता में सुधार लाया जाएगा। इस पर 176 करोड़ रूपए की लागत अनुमानित है।

बैराज और झीलों का निर्माण
प्रोजेक्ट में कुल 10 बांध और झीलों का निर्माण प्रस्तावित किया गया है। इनमें पूर्वी नयार नदी पर खैरासैण झील, सतपुली के निकट झील, पश्चिमी नयार नदी पर पापडतोली, पैठाणी, स्यूंसी व मरखोला झील, साकमुंडा नदी पर झील, थल नदी पर झील, खो नदी पर दुगड्डा में बैराज और रामगंगा नदी पर गैरसैण झील शामिल हैं। इन 10 झीलों और बैराज के निर्माण पर 613 करोड़ रूपए की लागत अनुमानित है।

NewsUncategorized

बढ़ती चोरी की घटनाओं को लेकर हरिद्वार एसएसपी नाराज,थाना प्रभारी पर गिरी गाज

views
6432

हरिद्वार ब्यूरो। हरिद्वार के कनखल थाना क्षेत्र में चोरी की बढ़ती वारदात को लेकर हरिद्वार एसएसपी ने कार्यवाही करते हुए कनखल एसओ को लाइन हाजिर कर दिया हैं। दरअसल क्षेत्र में अमेजॉन कंपनी के ऑफिस में लाखों की चोरी से सनसनी फैल गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिस के आलाधिकारियों ने मौके का मुआयना किया।

क्षेत्र में बढ़ती चोरी की वारदातों से नाराज़ एसएसपी सेंथिल अबुदई ने कनखल थाना प्रभारी हरिओम राज चौहान को लाइन हाजिर कर दिया। हरिद्वार में चोरों के हौसले इस कदर बुलंद हैं की चोरों ने लक्सर रोड पर बने अमेजॉन कंपनी के ऑफिस के ताले तोड़कर लगभग तेहरा लाख कैश और कुछ मोबाइल फोन पर हाथ साफ कर दिया। चोरों की ये करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद ना हो इसलिए चोर सीसीटीवी का डीवीआर भी अपने साथ लेकर उड़े।

इतना ही नहीं चोरों ने आसपास की बिल्डिंगों में लगे सीसीटीवी कैमरे के तार भी काट डाले। सूचना पाकर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। कंपनी के कर्मचारियों के मुताबिक लगभग तेहरा लाख रुपए और कुछ सामान चोरी हुआ है।

सोमवार सुबह जब ऑफिस खोला गया तब घटना के बारे में पता चला। क्षेत्र में बढ़ती चोरी की घटनाओं से नाराज़ हरिद्वार के एसएसपी ने कनखल थाना प्रभारी हरिओम राज चौहान पर कार्रवाई करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

NewsUncategorized

रुद्रपुर के कांग्रेसी पार्षद को इस बड़ी वजह के लिए किया गया था किड़नैप

views
6456

रुद्रपुर ब्यूरो। उत्तराखंड के रुद्रपुर से किडनैप किए गए कांग्रेसी पार्षद अमित मिश्रा मामले में गाजियाबाद पुलिस और उत्तराखंड पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में 3 अपहरणकर्ता को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने इनके कब्जे से किडनैपिंग में इस्तेमाल हुई कार और बंदूक भी बरामद की है।

यह तस्वीर है कांग्रेसी पार्षद अमित मिश्रा की अस्पताल में बैठे हुए हैं। ये गाजियाबाद का सरकारी अस्पताल है और यह तस्वीर 18 जनवरी की है । जब अमित मिश्रा के किडनैपर उनको गाजियाबाद के राज नगर एक्सटेंशन इलाके में छोड़कर फरार हो गए थे ।

दरअसल उत्तराखंड के रुद्रपुर कांग्रेससे पार्षद अमित मिश्रा 17 जनवरी को किडनैप कर लिया गया था। अपहरणकर्ताओं ने परिजनों को फोन करके 40 लाख की फिरौती मांगी थी । परिजनों ने इसकी सूचना उत्तराखंड पुलिस को दी। उत्तराखंड पुलिस ने जांच की तो पता चला किडनैपर है ईस्टर्न पेरिफेरल वे पर है। उत्तराखंड पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस से मदद मांगी।

गाजियाबाद पुलिस ने अपहरणकर्ताओं पर ऐसा शिकंजा कसा की किडनैपर को अमित मिश्रा को मजबूरी में राजनगर एक्सटेंशन छोड़कर फरार हो गए । अब पुलिस ने इसमें शामिल 3 बदमाश अबरार रिंकू और गौतम को हिरासत में ले लिया है।

हालांकि दो बदमाश हरेंद्र और संदीप अभी फरार है। यह सभी लोग दिल्ली और बागपत इलाके के रहने वाले हैं। पुलिस अभी फरार बाकी बदमाशों की तलाश कर रही है। हिरासत में लिए गए इन बदमाशो के कब्जे से अपहरण में इस्तेमाल हुई कार और एक डबल बैरल बंदूक बरामद की गई है।

NewsUncategorized

योगी के यूपी का क्राइम फ्री स्टेट की बानगी,चोर मस्त—पुलिस पस्त

views
6212

हरदोई ब्यूरो। योगी के यूपी में क्राइम पर किस तरह से लगाम लगी है इसकी एक बानगी हरदोई में उस समय दखेने को मिली जब बाइक शोरुम का ताला तोड़कर चोरों में लाखों की चपत लगा दी। ये पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गयी। हालांकि पुलिस घटना के बाद जल्द ही चोरों को गिरफ्तार करने का दावा कर रही हैं।

हरदोई में पुलिस भले ही कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने का दावा करे लेकिन उसके यह दावे हवा हवाई ही साबित हो रहे हैं चोरों ने बाइक शोरूम का ताला तोड़कर लाखों की नगदी पर हाथ साफ कर दिया हालांकि इस दौरान शोरूम के अंदर चोरी के लिए दाखिल हुए एक चोर की तस्वीरें सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

अब सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई तस्वीरों के सहारे पुलिस चोरों तक पहुंचने के प्रयास में जुटी हुई है हालांकि पुलिस का दावा है कि जल्द ही चोरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा और चोरी की इस घटना का खुलासा किया जाएगा

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में चोरी की यह वारदात कस्बा पिहानी की है जहां बिलाल मोटर्स का ताला तोड़कर चोरों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया है दरअसल शटर के ताले तोड़कर एक चोर शोरूम के अंदर दाखिल हुआ तस्वीरों में आप साफ़ देख सकते हैं कि किस तरह से एक चोर अंदर दाखिल होता है जो हाथ में टॉर्च पकड़े हुए है

और फिर मेज की रैक और अलमारियां खोल रहा है शोरूम मालिक के मुताबिक चोर एक लाख 30 हजार नगद और एक चेक बुक अपने साथ ले गए हैं ऐसे में चोरी की घटना के सामने आने के बाद शोरूम मालिक की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज कर लिया है और सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई चोरी की वारदात को लेकर तस्वीरों के सहारे पुलिस चोरों का पता लगाने में जुटी है पुलिस का दावा है कि जल्द ही चोरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा और इस मामले का पटाक्षेप किया जाएगा।

NewsUncategorized

गणतंत्र दिवस पर उत्तराखंड के इन पुलिसकर्मीयों को मिलेगा विशेष पुरुस्कार,देखें पूरी लिस्ट

views
6302

देहरादून ब्यूरो। गणतंत्र दिवस पर उत्तराखंड के 58 पुलिस कर्मीयों को सम्मानित किया जायेगा। जिसमें आठ पुलिसकर्मीयों को राज्यपाल उत्कृष्ठ सेवा पु​रुस्कार और उत्कृष्ठ सराहनीय सेवा सम्मान से नवाजा जायेगा।
इन्हें राज्यपाल बेबी रानी मौर्य सम्मान चिन्ह प्रदान करेंगी। बाकी पुलिसकर्मियों को पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूडी द्वारा सम्मानित किया जाएगा। पुलिस मुख्यालय ने बुधवार शाम सम्मानित होने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के नामों की घोषणा कर दी।

उत्कृष्ट और सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह पाने वाले पुलिसकर्मियाें को गणतंत्र दिवस पर पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूडी सम्मानित करेंगे। अराजपत्रित अधिकारी और कर्मचारी को सम्मान चिन्ह के साथ 5000 और 2000 रुपये का नकद पुरस्कार किया जाएगा।

इन्हें मिलेगा राज्यपाल उत्कृष्ट सेवा पदक
1- प्रकाश चंद्र देवली, पुलिस उपाधीक्षक, पीटीसी नरेंद्रनगर (संबद्ध कुंभ मेला)
2- विक्रम सिंह नेगी, उप निरीक्षक विशेष श्रेणी हरिद्वार।
3- हरि सिंह, हेड कांस्टेबल, आईआरबी द्वितीय।
4- कंवर पाल, आरक्षी सतर्कता मुख्यालय देहरादून।
5- रविंद्र शाह, उपनिरीक्षक हरिद्वार।
6- अर्जुन कुमार, उपनिरीक्षक हरिद्वार।
7- अमित कुमार, आरक्षी, हरिद्वार।
8- प्रभाकर, आरक्षी, हरिद्वार।

सेवा के आधार पर उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह
1- बिजेंद्र दत्त डोभाल, पुलिस उपाधीक्षक, हरिद्वार।
2- राकेश चंद्र देवली, पुलिस उपाधीक्षक यातायात, देहरादून।
3- दिग्विजय सिंह परिहार, पुलिस उपाधीक्षक, संचार मुख्यालय, देहरादून।
4- देवेंद्र सिंह नेगी, उप निरीक्षक, ऊधमसिंह नगर।
5- सेनपाल सिंह, प्लाटून कमांडर, 46वीं वाहिनी पीएसी।
6- पूरन चंद्र जोशी, उप निरीक्षक विशेष श्रेणी, बागेश्वर।

विशिष्ट कार्य को उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह
1- विद्या दत्त जोशी, उपनिरीक्षक, ऊधमसिंह नगर।
2- धर्मेंद्र सिंह रौतेला, थाना प्रभारी प्रेमनगर, देहरादून।

सेवा के आधार पर सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह
1 गणेश लाल, पुलिस उपाधीक्षक, रुद्रप्रयाग।
2 राम सिंह रावत, दलनायक, 40वीं वाहिनी पीएसी।
3 अशोक कुमार सिंह, प्रतिसार निरीक्षक, अल्मोड़ा।
4 महेश पाल सिंह, निरीक्षक, एसटीएफ ।
5 कुंदन सिंह राणा, निरीक्षक एटीसी हरिद्वार।
6 राममूर्ति सिंह रावत, उप निरीक्षक अभिसूचना, मुख्यमंत्री सुरक्षा, देहरादून।
7 पीताम्बर भट्ट, उप निरीक्षक, चम्पावत।
8 रमेश चंद्र तिवारी, उप निरीक्षक, ऊधमसिंह नगर।
9 रमेश चंद्र देवरानी, उप निरीक्षक विशेष श्रेणी, ऊधमसिंह नगर।
10 रूपलाल, हेड कांस्टेबल, सीबीसीआईडी, देहरादून।
11 कुंदन सिंह, उप निरीक्षक विशेष श्रेणी, हरिद्वार।
12 गोवर्धन प्रसाद, उप निरीक्षक विशेष श्रेणी, पौड़ी गढ़वाल।
13 जेई राम, हेड कांस्टेबल विशेष श्रेणी, चालक 46वीं वाहिनी पीएसी।
14 रमेश चंद्र, हेड कांस्टेबल आईआरबी प्रथम रामनगर।
15 भवान सिंह, हेड कांस्टेबल, 31वीं वाहिनी पीएसी रुद्रपुर।
16 पूरन राम, नायक, 31वीं वाहिनी पीएसी रुद्रपुर।

विशिष्ट कार्य को सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह
1.दिलवर सिंह नेगी, एसओ नेहरू कालोनी, देहरादून।
2- संजय मिश्रा, कैंट कोतवाली प्रभारी देहरादून।
3- ललित कुमार, आरक्षी, देहरादून।
4- दीप प्रकाश, आरक्षी देहरादून।
5- राजेश सिंह कुंवर, आरक्षी, देहरादून।
6- देवेंद्र सिंह, आरक्षी देहरादून।
7- दिनेश सिंह, आरक्षी, देहरादून।
8- अशोक राठौर, एसओ राजपुर, देहरादून।
9- अरशद, आरक्षी, देहरादून।
10- पंकज, आरक्षी, देहरादून।
11- केदार सिंह चौहान, उप निरीक्षक, उत्तरकाशी।
12- ऋ तुराज, उप निरीक्षक उत्तरकाशी।
13- चंदन सिंह, आरक्षी, उत्तरकाशी।
14- उत्तम सिंह, आरक्षी, उत्तरकाशी।
15- रमेश राणा, आरक्षी, उत्तरकाशी।
16- अमर चंद्र शर्मा, निरीक्षक, एसटीएफ ।
17- सुनील कुमार, हेड कांस्टेबल एसटीएफ ।
18- मनोज कुुमार, आरक्षी, एसटीएफ ।
19- सुरेंद्र कुमार, आरक्षी चालक, एसटीएफ ।
20- मनोज रावत, उप निरीक्षक एसडीआरएफ ।
21- सुशील कुमार, आरक्षी, एसडीआरएफ ।
22- सुरेश मलासी, आरक्षी, एसडीआरएफ ।
23- कुंदन तोमर, आरक्षीए एसडीआरएफ ।
24- राजेंद्र नाथ, आरक्षी, एसडीआरएफ
25- गोपाल दत्त जोशी, निरीक्षक अभिसूचना मुख्यालय।
26- जीवन सिंह रावत, उप निरीक्षक, सीसीटीएनएस पुलिस मुख्यालय।

NewsUncategorized

नगरपालिका अध्यक्ष के खिलाफ बंधक बनाकर मारपीट का आरोप,मुकदमा दर्ज

views
6284

गदरपुर ब्यूरो। गदरपुर नगरपालिका अध्यक्ष पर एक युवक को बंधक बनाकर मारपीट करने के आरोप में पालिका अध्यक्ष गुलाम गौस सहित चार अन्य सहयोगियों पर मुकदमा हुआ दर्ज। मुकदमा दर्ज होने से नाराज पालिका अध्यक्ष ने समर्थकों के साथ थाने में जमकर किया हंगामा।

गदरपुर पालिका अध्यक्ष के खिलाफ ग्राम मजरा शीला निवासी मोहम्मद हारिस ने गदरपुर थाने में तहरीर दी थी कि 17 जनवरी को शाम मोमिन नामक का युवक चार पांच लोगों के साथ उसके घर आया और उसे कार में बैठा कर ले गया और उसका मोबाइल छीन लिया।

उसे जबरदस्ती पालिका कार्यालय में ईओ के कक्ष में ले जाया गया। जहां पर मौजूद पालिका अध्यक्ष गुलाम गौस उनके भाई तारीख उल्ला खान – रमेश मदान और कुछ अन्य लोगों ने उसके साथ मारपीट की और गाली गलौज की और उसे काफी देर तक कमरे में बंधक बनाया गया।

वहीं पर उसके मोबाइल से भी काफी छेड़छाड़ की गई। मोहम्मद हारिस की तहरीर पर पुलिस ने पालिका अध्यक्ष और उसके साथ चार अन्य लोगों पर 323- 342- 504 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया।

वही गदरपुर नगर पालिका चेयरमैन गुलाम गौस ने भी मोहम्मद हारिस पर उनके खिलाफ सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट करने की तहरीर गदरपुर थाने में दी थी। मोहम्मद हारिस की तहरीर पर मुकदमा दर्ज होने और चेयरमैन की तहरीर पर कोई कार्यवाही ना होने से नाराज चेयरमैन समर्थकों ने कल रात गदरपुर थाने का घेराव कर जमकर हंगामा काटा और मोहम्मद हरीश के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

वहीं इस पूरे मामले में सीओ दीपशिखा ने बताया की गदरपुर नगर पालिका अध्यक्ष के खिलाफ एक तहरीर आई थी जिस पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है साथ ही कल रात नगर पालिका चेयरमैन मोहम्मद गौस द्वारा अपने समर्थकों के साथ कोतवाली का घेराव किया गया था और अपनी तहरीर पर भी कार्रवाई करने की मांग की गई थी उनकी तहरीर पर जांच की जा रही है जांच उपरांत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

NewsUncategorized

देखिए उत्तराखंड का यह इलाका दिख रहा शाहीन बाग के रास्ते पर

views
6117

रुड़की ब्यूरो। उत्तराखंड का मंगलौंर कस्बा शाहीन बाग़ में तब्दील होता दिखाई दिया है, जहाँ सैकड़ों महिलाएं अपने बच्चों के साथ सीएए कानून के खिलाफ एक मदरसे में इकठ्ठा हुई और इस कानून के खिलाफ जमकर हुंकार भरी। दरअसल एनआरसी और सीएए कानून के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

तो कहीं इन कानून का समर्थन भी किया जा रहा है। खासकर मुस्लिम समाज व दलित समाज के लोग लगातार कानून में हुए संशोधन के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली में शाहीन बाग में सैकड़ों महिलाएं एक माह से अधिक समय से धरने पर बैठी हुई हैं तो उसी की तर्ज पर उत्तराखंड प्रदेश में भी मुस्लिम समाज की महिलाएं घरों से बाहर निकलकर इस संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए उतर गई हैं।

बता दें कि मंगलौर क्षेत्र में मुस्लिम समाज की महिलाएं लगातार एनआरसी और सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतर गई है। पिछले दिनों मंगलौर कस्बे में स्थित मदरसे में हजारों की तादाद में पहुंची

मुस्लिम समाज की महिलाओं ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया था जिसके चलते मंगलौर क्षेत्र के ही टांडा भनेड़ा गांव में भी सैकड़ों की संख्या में जमा हुई महिलाओं ने जोरदार इसका विरोध प्रदर्शन किया।

महिलाओं ने साफ तौर पर कहा कि शाहीन बाग में बैठी महिलाएं अकेली नहीं है जब तक सरकार संशोधन कानून को वापस नहीं लेती तब तक सभी मुस्लिम समाज की महिलाएं भी धरना प्रदर्शन करेगी।

English EN Hindi HI